लाइव टीवी

अब येडियुरप्पा के मंत्री बोले- CAA का विरोध करने वाले राष्ट्रद्रोही बिरयानी नहीं, बुलेट के लायक

एएनआई
Updated: January 29, 2020, 8:55 AM IST
अब येडियुरप्पा के मंत्री बोले- CAA का विरोध करने वाले राष्ट्रद्रोही बिरयानी नहीं, बुलेट के लायक
कर्नाटक सरकार में मंत्री सीटी रवि

मोदी सरकार में वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने सोमवार को दिल्ली में एक रैली के दौरान नागरिकता कानून (CAA) का विरोध कर रहे लोगों को गद्दार बताया था. उनके इस बयान की मीडिया में खूब आलोचना हुई थी. वहीं, कर्नाटक सरकार में मंत्री सीटी रवि ने अनुराग ठाकुर के बयान का समर्थन किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिकता कानून (CAA) का विरोध कर रहे लोगों को लेकर केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) और बीजेपी सांसद परवेश वर्मा (Parvesh Verma) के बेहद आपत्तिजनक बयानों के बाद अब कर्नाटक की येडियुरप्पा सरकार में मंत्री सीटी रवि ने भी विवादत दिया है. रवि ने अनुराग ठाकुर के बयान का समर्थन करते हुए कहा, 'राष्ट्र विरोधियों को बिरयानी नहीं खिलानी चाहिए, बल्कि उन्हें गोली मार देनी चाहिए.'

मोदी सरकार में वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को दिल्ली में एक रैली के दौरान CAA का विरोध कर रहे लोगों को गद्दार बताया था. उनके इस बयान की मीडिया में खूब आलोचना हुई थी. हालांकि, कुछ नेताओं ने ठाकुर के बयान का समर्थन किया था. कर्नाटक में मंत्री सीटी रवि ने कहा कि राष्ट्र-विरोधियों के साथ नरमी से पेश नहीं आना चाहिए.

सीटी रवि ने अनुराग ठाकुर के बयान पर आपत्ति जताने वाले लोगों को भी कैटेगरी में बांट दिया है. उन्होंने ट्वीट किया, 'ऐसे लोग आतंकी अजमल कसाब और याकूब मेमन की फांसी का विरोध करते हैं, टुकड़े-टुकड़े गैंग का समर्थन करते हैं और नागरिकता संशोधन कानून के खिलाफ झूठ फैलाते हैं.' उन्होंने आगे लिखा- 'राष्ट्र विरोधियों को बिरयानी नहीं बुलेट मिलनी चाहिए.'



30 जनवरी तक देना होगा जवाब
बता दें कि चुनाव आयोग ने इस विवादास्पद बयान पर अनुराग ठाकुर को कारण बताओ नोटिस जारी किया है. अनुराग ठाकुर के चुनाव आयोग के इस नोटिस पर 30 जनवरी दोपहर 12 बजे तक जवाब देना होगा.

कपिल मिश्रा पर भी EC ले चुकी है एक्शन
अगर चुनाव आयोग अनुराग ठाकुर को दोषी करार देता है, तो उनपर दिल्ली चुनाव के दौरान कैंपेनिंग पर रोक लगाई जा सकती है. इसके पहले बीजेपी नेता कपिल मिश्रा पर एक बयान को लेकर चुनाव आयोग ने 48 घंटे के लिए उनके चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी थी.

बता दें कि दिल्ली में 8 फरवरी को विधानसभा चुनाव होने हैं. 11 फरवरी को नतीजों का ऐलान होगा. दिल्ली में मुख्य मुकाबला आम आदमी पार्टी, बीजेपी और कांग्रेस के बीच है.

ये भी पढ़ें: केंद्रीय मंत्री बोले- NPR में पूर्वजों के मूल निवास के बारे में जानकारी देना जरूरी, ये है इसकी वजह

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 29, 2020, 8:28 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर