लाइव टीवी

SC ने सज्जन कुमार की मेडिकल टेस्ट के दिए निर्देश, सिख विरोधी दंगों के हैं आरोपी

News18Hindi
Updated: November 6, 2019, 1:11 PM IST
SC ने सज्जन कुमार की मेडिकल टेस्ट के दिए निर्देश, सिख विरोधी दंगों के हैं आरोपी
SC ने सज्जन कुमार की स्वास्थ्य रिपोर्ट 4 हफ्ते के अंदर (PTI Photo)

उच्चतम न्यायालय ने एम्स (AIIMS) के निदेशक द्वारा गठित इस चिकित्सक पैनल (Doctors Panel) से सज्जन कुमार की स्वास्थ्य रिपोर्ट चार हफ्ते के अंदर मांगी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 6, 2019, 1:11 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. उच्चतम न्यायालय (Supreme court) ने बुधवार को कांग्रेस के पूर्व नेता सज्जन कुमार (Sajjan Kumar) के स्वास्थ्य की जांच एम्स के चिकित्सकों के एक पैनल से कराने के निर्देश दिए हैं. सज्जन कुमार को 1984 के सिख विरोधी दंगों से जुड़े मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय (Delhi High Court) ने उम्रकैद की सजा सुनाई थी. उन्होंने इस फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी. उच्च न्यायालय द्वारा दोषी ठहराए जाने के बाद कुमार ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया था.

अदालत ने 4 हफ्ते में मांगी रिपोर्ट
शीर्ष अदालत ने एम्स (AIIMS) के निदेशक द्वारा गठित इस चिकित्सक पैनल (Doctors Panel) से चार हफ्ते के अंदर रिपोर्ट मांगी है. कुमार ने सेहत के आधार पर उनकी जमानत याचिका पर तत्काल सुनवाई किए जाने का अनुरोध किया था. सुनवाई के दौरान कुमार की ओर से कहा गया कि जेल में उनका वजन करीब 8-10 किलो घट गया है.

कुमार के मामले को बताया असाधारण

पांच अगस्त को न्यायमूर्ति एस ए बोबडे की अगुवाई वाली एक पीठ ने कहा था कि वह कुमार की जमानत याचिका पर मई 2020 में सुनवाई करेगी क्योंकि यह साधारण मामला नहीं है. किसी तरह का आदेश पारित किए जाने से पहले इस पर विस्तार से सुनवाई करने की जरूरत है.

कुमार के अधिवक्ता विकास सिंह ने कहा ये
कुमार की तरफ से पेश हुए वरिष्ठ अधिवक्ता विकास सिंह ने कहा कि वह पिछले 11 महीनों से जेल में हैं और उनका 8 से 10 किलोग्राम वजन घट गया है. उन्होंने कहा कि कुमार कई बीमारियों से पीड़ित हैं और उनकी सेहत गंभीर रूप से खराब है.
Loading...

पीठ ने दिया जवाब
इस पर पीठ ने कहा कि यदि किसी का वजन कम होता है इसका यह मतलब नही की वह अस्वस्थ हैं लेकिन फिर भी हम डॉक्टरों की एक टीम से उनकी सेहत की जांच कराने और 4 हफ्ते में रिपोर्ट पेश करने का आदेश देते हैं.

कुमार पर हैं यह आरोप
कुमार को 1984 में 1 नवंबर को दक्षिण पश्चिम दिल्ली के राजनगर पार्ट-1 में सिख समुदाय के 5 लोगों की हत्या और राजनगर पार्ट-2 में एक गुरुद्वारे को जलाए जाने के मामले में दोषी ठहराया गया था. सिख विरोधी दंगों के मामले में कुमार को दिल्ली हाईकोर्ट ने दिसंबर 2018 में दोषी करार दिया था और आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी. (भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ेंं :  शिवसेना नेता संजय राउत क्यों कर रहे हैं राष्ट्रपति शासन का जिक्र

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 6, 2019, 1:05 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...