एंटीगा के PM ने फिर दोहराया-हम चाहते हैं कि चोकसी को डोमनिका सीधा भारत भेजे

डोमिनिका में है मेहुल चोकसी (फाइल फोटो)

डोमिनिका में है मेहुल चोकसी (फाइल फोटो)

एंटीगा के प्रधानमंत्री कार्यालय (Antigua PMO) द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक आज वहां हुई कैबिनेट की बैठक हुई है और डोमनिका कोर्ट के नतीजे का इंतजार किया जा रहा है. बैठक के दौरान कैबिनेट में यह आम राय रही कि मेहुल चोकसी को सीधा भारत भेजा जाए.

  • Share this:

नई दिल्ली. एंटीगा और बारबूडा के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउन (Gaston Browne) ने साफ किया है कि भगोड़े कारोबारी मेहुल चोकसी (Mehul Choksi) को सीधा भारत भेजा चाहिए. एंटीगा के प्रधानमंत्री कार्यालय द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक आज वहां कैबिनेट की बैठक हुई है और डोमनिका कोर्ट के नतीजे का इंतजार किया जा रहा है. बैठक के दौरान कैबिनेट में यह आम राय रही कि मेहुल चोकसी को सीधा भारत भेजा जाए.

इससे पहले मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण मामले की सुनवाई डोमनिका की अदालत में टल गई है. चोकसी के वकील ने कोट न करने की शर्त पर बताया है कि अभी अगली तारीख के लिए जज ने कहा है 'likely hear on 1st july' लेकिन 'लाइकली' शब्द का इस्तेमाल है अगली तारीख के बारे में पता लगने में समय लगेगा. कोर्ट ने कहा है कि प्रॉसिक्यूशन और डिफेंस के वकील आपस मे बात करें. सुनवाई की अगली तारीख का ऐलान जल्द ऑफिशियली हो जाएगा. कुल मिलाकर अभी मेहुल चौकसी जल्द भारत नही आ पाएगा.

एक दिन पहले एंटीगा के प्रधानमंत्री ने बताया था कि मेहुल चोकसी ने अपना वकील बदल लिया है. उन्होंने कहा था, 'चोकसी ने अपना केस लड़ रहे वकील को हटाकर उसकी जगह एक नए वकील जस्टिन साइमन को रखा है जो कि वहां की विपक्षी पार्टी यूपीपी का सदस्‍य और पूर्व अटॉर्नी जनरल है. इतना ही नहीं, साइमन ने अपनी कैम्पेन फंडिंग के लिए चोकसी से यह वादा भी किया है कि वह उसकी सुरक्षा करेगा. यही वजह है कि वे लोग चोकसी को भारत नहीं, बल्कि एंटीगा भेजना चाहते हैं ताकि वह वहां संवैधानिक सुरक्षा की आड़ में छिपा रह सके.'

क्या है पूरा मामला
चोकसी और उसके भांजे नीरव मोदी ने पंजाब नेशनल बैंक से 13,500 करोड़ रुपये की धनराशि का कथित तौर पर गबन किया. नीरव मोदी लंदन की एक जेल में बंद है और वह भारत प्रत्यर्पित किए जाने के खिलाफ मुकदमा लड़ रहा है. चोकसी ने 2017 में एंटीगा एंड बारबूडा की नागरिकता ली थी और जनवरी 2018 के पहले हफ्ते में भारत से भाग गया था. इसके बाद ही यह घोटाला सामने आया था. दोनों ही सीबीआई जांच का सामना कर रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज