अर्नब गोस्वामी को 18 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेजा गया

गिरफ्तारी के बाद पुलिस वैन में अर्नब गोस्वामी (Twitter)
गिरफ्तारी के बाद पुलिस वैन में अर्नब गोस्वामी (Twitter)

अर्नब गोस्वामी को यहां की एक अदालत ने 18 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया . अदालत ने रात में यह आदेश सुनाया. गोस्वामी ने जमानत के लिए अर्जी दी और अदालत ने जांच अधिकारी को जवाब दाखिल करने को कहा.

  • Share this:
अलीबाग (महाराष्ट्र): एक इंटीरियर डिजाइनर को आत्महत्या के लिए कथित तौर पर उकसाने के मामले में बुधवार को गिरफ्तार किए गए रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी को यहां की एक अदालत ने 18 नवंबर तक न्यायिक हिरासत में भेज दिया . अदालत ने रात में यह आदेश सुनाया. गोस्वामी ने जमानत के लिए अर्जी दी और अदालत ने जांच अधिकारी को जवाब दाखिल करने को कहा. पत्रकार गोस्वामी के वकील गौरव पारकर ने इस बारे में बताया. उन्होंने कहा कि अलीबाग की एक अदालत में पुलिस ने गोस्वामी की 14 दिनों की हिरासत देने का अनुरोध किया .

रायगढ पुलिस की एक टीम ने गोस्वामी (47) को सुबह में मुंबई में उनके आवास से हिरासत में लिया था. उन्हें पुलिस वैन में बैठाया गया. गोस्वामी ने दावा किया था कि पुलिस ने उनके साथ हाथापाई की. एक पुलिस अधिकारी ने बताया, ‘पुलिस ने आईपीसी की धारा 306 (आत्महत्या के लिए उकसाने) और 34 (समान मंशा के साथ लोगों द्वारा किया गया कृत्य) के तहत गोस्वामी को गिरफ्तार किया.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज