अपना शहर चुनें

States

खेल मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला के इस्तीफे पर बोलीं ममता बनर्जी- कोई भी इस्तीफा दे सकता है

ममता बनर्जी ने कहा कि शुक्ला के इस्तीफे को गलत नहीं लिया जाना चाहिए (फाइल फोटो)
ममता बनर्जी ने कहा कि शुक्ला के इस्तीफे को गलत नहीं लिया जाना चाहिए (फाइल फोटो)

Laxmi Ratan Shukla Resignation: ममता बनर्जी को बंगाल विधानसभा चुनाव से पहले झटका देते हुए खेल मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने खेल मंत्री के पद से इस्तीफा दे दिया. इससे पहले परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने पहले कैबिनेट और फिर पार्टी से इस्तीफा दे दिया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 4:42 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. पश्चिम बंगाल (West Bengal) के खेल मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला (Laxmi Ratan Shukla) के इस्तीफा देने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (CM Mamata Banerjee) ने कहा कि कोई भी इस्तीफा दे सकता है. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि लक्ष्मी रतन शुक्ला ने अपने इस्तीफे में लिखा है कि वह खेल को और समय देना चाहते हैं और वह विधायक बने रहेंगे. ममता बनर्जी ने कहा कि कोई भी इस्तीफा दे सकता है इसे नकारात्मकता से नहीं देखा जाना चाहिए.

बता दें पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव (West Bengal Assembly Elections 2021) से पहले मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को एक और झटका देते हुए खेल और युवा मामलों के मंत्री लक्ष्मी रतन शुक्ला ने कैबिनेट से मंगलवार को इस्तीफा दे दिया. उन्होंने मंत्रीपद के साथ ही हावड़ा जिलाध्यक्ष का पद भी छोड़ दिया है. इस्तीफा देने के बाद भी फिलहाल वो तृणमूल कांग्रेस से ही विधायक हैं.

ये भी पढ़ें- BJP से 'चोट' खाए नीतीश कुमार को क्यों कांग्रेस-राजद से भी मलहम की उम्मीद नहीं



इससे पहले बंगाल कैबिनेट में परिवहन मंत्री शुभेंदु अधिकारी ने तृणमूल कांग्रेस के सभी पदों से इस्तीफा दे दिया था, इसके बाद वह केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में भारतीय जनता पार्टी में शामिल हो गए थे.
ऐसा रहा है शुक्ला का करियर
लक्ष्मी रतन शुक्ला (Laxmi Ratan Shukla) टीम इंडिया की तरफ से तीन वनडे खेल चुके हैं. आईपीएल में भी वो कोलकाता नाइट राइडर्स, दिल्ली डेयरडेविल्स और सनराइजर्स हैदराबाद का हिस्सा रहे हैं. शुक्ला ने पिछले विधानसभा चुनाव से पहले टीएमसी (TMC) जॉइन कर राजनीतिक पारी की शुरुआत की थी. बंगाल के हावड़ा उत्तर से वो विधायक चुने गए. फिर ममता सरकार में उन्हें खेल और युवा मामलों का मंत्री बनाया गया था.

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में कुछ ही महीनों में चुनाव होने वाले हैं जिसके चलते वहां पर हो रहे किसी भी तरह से सियासी घटनाक्रम को काफी अहम माना जा रहा है. ऐसे में खेल मंत्री के इस इस्तीफे को ममता सरकार के लिए बड़ा झटका माना जा रहा है. इन विधानसभा चुनावों के लिए भाजपा भी 200 सीटें जीतने के दावे के साथ चुनावी मैदान में जिसके चलते ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस को कड़ी टक्कर मिलती दिख रही है. बता दे लक्ष्मी रतन शुक्ला और शुभेंदु अधिकारी के अलावा कई अन्य नेता भी टीएमसी छोड़ चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज