• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • नहीं मिल पाएगी जयललिता की रिकॉर्डिंग, 30 दिन बाद हो जाती है डिलीटः अस्पताल

नहीं मिल पाएगी जयललिता की रिकॉर्डिंग, 30 दिन बाद हो जाती है डिलीटः अस्पताल

अस्पताल ने बताया कि सीसीटीवी रिकॉर्डिंग ऑटोमेटिक तरीके से डिलीट हो गई है और उसके ऊपर दूसरी रिकॉर्डिंग हो चुकी है.

अस्पताल ने बताया कि सीसीटीवी रिकॉर्डिंग ऑटोमेटिक तरीके से डिलीट हो गई है और उसके ऊपर दूसरी रिकॉर्डिंग हो चुकी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता की मौत की जांच के लिए गठित जस्टिस अरुमुगस्वामी कमीशन द्वारा मांगी गई सीसीटीवी फुटेज देने में अस्पताल ने असमर्थता जताई है. कमीशन ने अपोलो अस्पताल से उस सीसीटीवी फुटेज की मांग की थी जहां जयललिता भर्ती थीं.  लेकिन अस्पताल ने बताया कि पूर्व मुख्यमंत्री जे जयललिता जहां भर्ती थीं उसकी सीसीटीवी रिकॉर्डिंग ऑटोमैटिक तरीके से डिलीट होकर उसके ऊपर दूसरी रिकॉर्डिंग हो चुकी है. अस्पताल अथॉरिटी ने ये खबर जस्टिस ए अरुमुगस्वामी कमीशन को दी.

    ये भी पढ़ेंः क्या जयललिता को जानबूझकर मौत की दवाई दी गई?

    कमीशन जयललिता की मौत के कारणों के बारे में जांच कर रही है. जयललिता को बीमारी के चलते 22 सितंबर 2016 को अस्पताल में भर्ती कराया गया था और 5 दिसंबर 2016 को उनका निधन होने तक वो वहां भर्ती थीं.

    ये भी पढ़ेंः शशिकला के भाई का दावा- 4 दिसंबर को ही हो गई थी जयललिता की मौत, 30 घंटे बाद किया ऐलान

    अस्पताल ने कमीशन को बताया कि वो मांगे गए फुटेज को उपलब्ध करा पाना संभव नहीं है क्योंकि यह बहुत पुराना है जबकि अस्पताल में सिर्फ एक महीने यानी 30 दिन तक के ही फुटेज की रिकॉर्डिंग होती है उसके बाद ऑटोमेटिक तरीके से नई रिकॉर्डिंग होने लगती है, जबकि कमीशन द्वारा मांगी गई रिकॉर्डिंग सितंबर 2016 से दिसंबर 2016 के बीच की है. कमीशन ने इससे पहले अस्पताल से कहा था कि वह अस्पताल के कुछ खास एरिया का सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराए.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज