कोरोना वैक्सीन विरोधी अभियान के कारण लोग कर सकते हैं टीके से इंकार: रिसर्च

भारत में अगले साल की शुरुआत तक वैक्सीन आने की बात कही जा रही है. (सांकेतिक तस्वीर)
भारत में अगले साल की शुरुआत तक वैक्सीन आने की बात कही जा रही है. (सांकेतिक तस्वीर)

LocalCircles द्वारा की गई एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि वैक्सीन को लेकर तकरीबन 61 प्रतिशत लोग दुविधा की स्थिति में हैं. वहीं 10 प्रतिशत लोग वैक्सीन लगवाने से इंकार भी कर सकते हैं. इस रिसर्च में करीब 25 हजार लोगों से बातचीत की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 23, 2020, 11:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना वैक्सीन (Corona Vaccine) अब चुनावी मुद्दा (Election Issue) भी बन चुकी है. बिहार में बीजेपी ने लोगों को फ्री में वैक्सीन डोज (Free Vaccine Dose) दिलवाने का वादा किया है. इस बीच एक सर्वे (Survey) में खुलासा हुआ है कि बड़ी संख्या में भारतीय लोग वैक्सीन को लेकर दुविधा में हैं. LocalCircles द्वारा की गई एक रिसर्च में खुलासा हुआ है कि वैक्सीन को लेकर तकरीबन 61 प्रतिशत लोग दुविधा की स्थिति में हैं. वहीं 10 प्रतिशत लोग वैक्सीन लगवाने से इंकार भी कर सकते हैं. इस रिसर्च में करीब 25 हजार लोगों से बातचीत की गई है.

सर्वे में वैक्सीन को लेकर लोगों का परसेप्शन जानने की कोशिश की गई
ये सर्वे लोगों का वैक्सीन के बारे में परसेप्शन जानने के लिए किया गया था. साथ ही इसमें लोगों की कोरोना के प्रति सोच भी जानने की कोशिश की गई. रिसर्च में खुलासा हुआ कि बड़ी संख्या में लोग वैक्सीन को लेकर निश्चित राय नहीं रखते हैं. उनमें दुविधा भी है. इसमें वैक्सीन विरोधी प्रचार अभियान का भी रोल हो सकता है. इस पर बायोटिक्स के प्रोफेसर अनंत भान का कहना है-यह बताता है कि लोगों के बीच वैक्सीन को लेकर विश्वास की कमी है. संभव है वैक्सीन बनाने में जल्दबाजी भी इसका एक कारण हो सकता है. साथ ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर वैक्सीन विरोधी मूवमेंट और भ्रामक जानकारी भी इसका कारण हो सकते हैं.


अगले साल की शुरुआत में वैक्सीन आने की बात कह चुके हैं स्वास्थ्य मंत्री


गौरतलब है कि हाल ही में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा था कि अगले साल की शुरुआत में देश में कोरोना वैक्सीन मौजूद हो सकती है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी वैक्सीन निर्माण और उसके डेलिवरी सिस्टम को लेकर एक समीक्षा बैठक की है. यह खबर भी सामने आ चुकी है देश में कोरोना वैक्सीन सबसे पहले फ्रंटलाइन वर्कर्स को दी जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज