चीन बॉर्डर पर आर्मी और वायुसेना करेगी सबसे बड़ा युद्ध अभ्यास

News18Hindi
Updated: September 11, 2019, 12:12 PM IST
चीन बॉर्डर पर आर्मी और वायुसेना करेगी सबसे बड़ा युद्ध अभ्यास
चीन सीमा पर भारतीय सेना का यह पहला युद्ध अभ्यास होगा.

चीन बॉर्डर पर भारतीय सेना (Army) का यह पहला युद्ध अभ्यास (War Practice) होगा. जहां युद्ध जैसी स्थिति का अभ्यास करने के लिए सुरक्षाबलों को तैनात किया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 11, 2019, 12:12 PM IST
  • Share this:
चीन बॉर्डर पर वायुसेना (Air Force) के साथ भारतीय सेना (Army) अक्टूबर के महीने में बड़ा युद्ध अभ्यास करने जा रही है. भारतीय सेना के एकमात्र माउंटेन स्ट्राइक कोर के पांच हजार से अधिक जवान अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में बड़े पैमाने पर युद्ध अभ्यास में हिस्सा लेंगे. चीन सीमा पर भारतीय सेना का यह पहला युद्ध अभ्यास होगा. जहां युद्ध जैसी स्थिति का अभ्यास करने के लिए सुरक्षाबलों को तैनात किया जाएगा.

इसके लिए नव निर्मित 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर पिछले 5-6 महीने से पूर्वी कमान के तहत इसकी तैयारी कर रही है. सेना के सूत्रों ने न्यूज एजेंसी एएनआई को बताया कि युद्धाभ्यास में तेजपुर स्थित 4 कोर की टुकड़ियों को सेना की रक्षा के लिए एक हाई अल्टीट्यूड पर तैनात किया जाएगा. इसमें 17 माउंटेन स्ट्राइक कोर के 2,500 से अधिक जवानों को एयर फोर्स युद्धाभ्यास के लिए एयरलिफ्ट करेगी. इस युद्धाभ्यास के दौरान स्ट्राइक कोर के जवान, 4 कोर के जवानों पर हवाई हमले करेंगे.


Loading...

एयरफोर्स हाइटेक विमानों का करेगी इस्तेमाल

बताया जा रहा है कि युद्धाभ्यास के दौरान भारतीय वायुसेना अपने हाईटेक ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट AN-32, C-17 और C-130J सुपर हरक्युलिस विमानों का इस्तेमाल करेगी. इन विमानों से जवानों एयरफोर्स पश्चिम बंगाल के बागडोगरा से जवानों को एयर लिफ्ट करके अरुणाचल प्रदेश के ‘वॉर जॉन’ में उतारेगी.

US में भारतीय आईटी कंपनी पर भेदभाव का आरोप, मुकदमा किया दायर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 11:36 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...