चीन से तनाव के बीच सेना प्रमुख ने फील्ड कमांडर्स से किसी भी हालात के लिए तैयार रहने को कहा: सूत्र

चीन से तनाव के बीच सेना प्रमुख ने फील्ड कमांडर्स से किसी भी हालात के लिए तैयार रहने को कहा: सूत्र
चीन से तनाव के बीच सेना प्रमुख ने बड़ा बयान दिया है.

India China Face Off: सेना प्रमुख, जनरल एमएम नरवणे (Army Chief General Manoj Mukund Naravane) ने मध्य क्षेत्र में सैन्य बलों की क्षमता वृद्धि और आपरेशनल प्रभावशीलता और बुनियादी ढांचे का विकास सुनिश्चित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों पर संतोष व्यक्त किया. उन्होंने ऑपरेशन तैयारियों के उच्च स्तर को प्राप्त करने के लिए मध्य कमान की प्रशंसा की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 7, 2020, 8:42 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. सेना प्रमुख, जनरल एमएम नरवणे (Army Chief General Manoj Mukund Naravane) ने शुक्रवार को लखनऊ छावनी स्थित मुख्यालय मध्य कमान का दौरा किया. सेना (Army) द्वारा जारी बयान में बताया गया कि सेना प्रमुख को मध्य कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ लेफ्टिनेंट जनरल आई एस घुमन द्वारा सैन्य आपरेशनल और प्रशासनिक दोनों पहलुओं पर जानकारी दी गई. सूत्रों के अनुसार, जनरल एमएम नरवणे ने फील्‍ड कमांडरों को किसी भी स्थिति के लिए तैयार करने को कहा है. साथ ही उच्चतम परिचालन तैयारियों को बनाए रखने के लिए भी कहा.

जनरल नरवणे ने मध्य क्षेत्र में सैन्य बलों की क्षमता वृद्धि और आपरेशनल प्रभावशीलता और बुनियादी ढांचे का विकास सुनिश्चित करने के लिए किए जा रहे प्रयासों पर संतोष व्यक्त किया. उन्होंने ऑपरेशन तैयारियों के उच्च स्तर को प्राप्त करने के लिए मध्य कमान की प्रशंसा की. बयान में बताया गया कि लखनऊ से प्रस्थान करने से पहले जनरल नरवणे ने उप्र की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से भी मुलाकात की. सेना प्रमुख ने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से उनके सरकारी आवास पर मुलाकात की. एक सरकारी प्रवक्ता ने इसकी जानकारी दी. सरकारी प्रवक्ता ने बताया कि 'दोनों के बीच शिष्टाचार भेंट वार्ता थी. मुख्यमंत्री ने सेना प्रमुख को एक प्रतीक चिन्ह भी भेंट किया.'


सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने अरुणाचल में एलएसी पर सैन्य तैयारियों का लिया जायजा
सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने बृहस्पतिवार को तेजपुर स्थित चौथी कोर मुख्यालय का दौरा किया. अधिकारियों ने बताया कि इस दौरान उन्होंने अरुणाचल प्रदेश में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर भारत की सैन्य तैयारियों की व्यापक स्तर पर समीक्षा की. उन्होंने कहा कि सेना की पूर्वी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने सेना प्रमुख को पूर्वी सेक्टर में चीन से सटी सीमा पर सैनिकों और हथियारों की तैनाती के बारे में विस्तृत जानकारी दी. सेना की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया, 'सेना प्रमुख ने पूर्वी कमान के सभी कोर कमांडरों से बातचीत की और वर्तमान सुरक्षा स्थिति तथा सैन्य अभियान की तैयारियों की समीक्षा की.'



वक्तव्य में कहा गया कि जनरल नरवणे ने देश की सीमाओं की सुरक्षा और अखंडता की रक्षा कर रहे सैनिकों का उत्साहवर्धन किया और उन्हें सदैव सचेत रहने के लिए प्रोत्साहित किया. पूर्वी लद्दाख में सीमा पर चीन के साथ हुई झड़प के मद्देनजर भारतीय सेना ने अरुणाचल प्रदेश और सिक्किम में लगभग 3,500 किलोमीटर लंबी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर मौजूद सभी संवेदनशील क्षेत्रों में सैनिकों की तैनाती बढ़ा दी है.

सूत्रों ने बताया कि भारतीय वायु सेना ने भी अरुणाचल सेक्टर में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर वायु सीमा पर निगरानी रखने के लिए मुख्य ठिकानों पर अतिरिक्त युद्धक विमान और हेलीकाप्टर तैनात किए हैं. सूत्रों ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में पीछे हटने की प्रक्रिया आगे नहीं बढ़ रही इसलिए सेना सर्दियों में भी वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सैनिकों और हथियारों की संख्या बरकरार रखना चाहती है. जनरल नरवणे शुक्रवार को लखनऊ स्थित सेना की मध्य कमान का दौरा करेंगे. (भाषा इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading