अपना शहर चुनें

States

लोकतांत्रिक प्रक्रिया को बाधित करने की फिराक में आतंकी, लगातार कर रहे हैं घुसपैठ की कोशिशः सेनाध्यक्ष

सेनाध्यक्ष ने कहा, बर्फ के स्तर में वृद्धि से पहले घुसपैठ की कोशिश की जा रही है.
सेनाध्यक्ष ने कहा, बर्फ के स्तर में वृद्धि से पहले घुसपैठ की कोशिश की जा रही है.

सेनाध्यक्ष ने कहा, हमारी पश्चिमी सीमाओं पर चल रही स्थिति में, आतंकवाद एक गंभीर खतरा बना हुआ है और यह सभी प्रयासों के बावजूद समाप्त नहीं हो रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2020, 3:45 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में पाकिस्तान (Pakistan) द्वारा आतंकवादियों द्वारा घुसपैठ की कोशिश को भारत लगातार नाकाम कर रहा है. आतंकियों की घुसपैठ के लिए इस्तेमाल की जाने वाली सुरंगों को भारतीय सेना ने पता लगाया है. सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे (Army Chief Manoj Naravane) ने कहा कि बर्फ के स्तर में वृद्धि से पहले भारत में घुसपैठ करना चाहते हैं. न्यूज एजेंसी ANI के मुताबिक, मुकुंद नरवणे ने कहा कि ऐसा लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को बाधित करने के लिए किया जा रहा है.

उन्होंने कहा, 'हमारी पश्चिमी सीमाओं पर चल रही स्थिति में, आतंकवाद एक गंभीर खतरा बना हुआ है और यह सभी प्रयासों के बावजूद समाप्त नहीं हो रहा है. सामान्य लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को बाधित करने के लिए जम्मू-कश्मीर में आतंकी घुसपैठ करने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं.'


दक्षिण की ओर बढ़ रहे हैं आतंकी
सेनाध्यक्ष ने मीडियो को संबोधित करते हुए कहा कि आतंकवादी सर्दियों की शुरुआत के साथ, पास और बर्फ के स्तर में वृद्धि से पहले घुसपैठ की फिराक में थे. उन्होंने बताया कि आंतकी दक्षिण की ओर बढ़ना शुरू कर चुके हैं और अब पूरे आईबी में निचले क्षेत्रों की सुरंगों के माध्यम से घुसपैठ करने का प्रयास कर रहे हैं.



लगातार कर रहे हैं तैयारियों का जायजा
उल्लेखनीय है कि सेनाध्यक्ष लगातार सीमावर्ती इलाकों में घुसपैठ को रोकने की तैयारियों और कोशिशों को लगातार जायजा लेते रहते हैं. पिछले दिनों नरवणे भारत-चीन सीमा पर भारत की सीमा चौकियों (बीओपी) का हवाई सर्वेक्षण किया था. सेना प्रमुख ने रिमखिम, नीती और लपताल चौकियों का हवाई सर्वेक्षण किया। समझा जाता है कि चमोली जिले में भारत- चीन सीमा पर स्थित आखिरी गांव माणा के भ्रमण किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज