लाइव टीवी

सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने बताया- 1965 और 1971 के युद्ध में लड़े पूर्व सैनिकों को दी जा सकती है विशेष पेंशन

News18Hindi
Updated: January 14, 2020, 7:08 PM IST
सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने बताया- 1965 और 1971 के युद्ध में लड़े पूर्व सैनिकों को दी जा सकती है विशेष पेंशन
सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने बताया कि पाकिस्‍तान के खिलाफ 1965 और 1971 के युद्ध में शामिल रहे पूर्व सैनिकों को विशेष पेंशन का प्रस्‍ताव दे दिया गया है.

सेना प्रमुख (Army Chief) जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General MM Naravane) ने फोर्थ आर्म्ड फोर्सज वेटरंस डे पर बताया कि पाकिस्‍तान (Pakistan) के खिलाफ युद्धों में शामिल रहे पूर्व सैनिकों (War Veterans) को स्‍वतंत्रता संग्राम सेनानियों की पेंशन (Pension) देने का प्रस्‍ताव भेजा जा चुका है. वहीं, नौसेना प्रमुख एडमिरल करमबीर सिंह (Admiral Karambir Singh) ने पूर्व सैनिकों से कहा कि वे सोशल मीडिया पर सेनाओं की सकारात्‍मक तस्‍वीर पेश करें.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 14, 2020, 7:08 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पाकिस्‍तान (Pakistan) के खिलाफ 1965 और 1971 के युद्ध में लड़ने वाले पूर्व सैनिकों (War Veterans) को विेशेष पेंशन (Pension) देने की योजना है. माना जा रहा है कि इन युद्धों में लडे पूर्व सैनिकों को स्‍वतंत्रता संग्राम सेनानियों की पेंशन दी जा सकती है. इसके लिए सेना की ओर से प्रस्‍ताव भेज दिया गया है. सेना प्रमुख (Army Chief) जनरल मनोज मुकुंद नरवणे (General MM Naravane) ने कहा कि पूर्व सैनिक सेवानिवृत्ति के बाद विभिन्‍न क्षेत्रों में योगदान कर राष्‍ट्र निर्माण में जुटे हैं. पूर्व सैनिकों का कल्‍याण हमेशा से हमारी प्राथमिकता में है.

पूर्व सैनिकों को स्‍वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बराबर दी जा सकती है पेंशन
सेना ने प्रस्‍ताव दिया है कि 1965 और 1971 के युद्ध में लड़ने वाले पूर्व सैनिकों को स्‍वतंत्रता संग्राम सेनानियों के बराबर पेंशन दी जाए. जनरल नरवणे ने 31 दिसंबर को जनरल बिपिन रावत से सेना प्रमुख का कार्यभार संभाला था. बता दें कि भारत और पाकिस्‍तान के बीच 1965 और 1971 में हुए युद्धों में भारतीय सेना ने विजय हासिल की थी. सेना प्रमुख एमएम नरवणे ने कहा कि पिछले साल हमने 240 अधिकारियों और 11,500 जेसीओ को सेवानिवृत्ति के बाद नौकरी पाने में मदद की. जयपुर में आयोजित फोर्थ आर्म्ड फोर्सज वेटरंस डे पर उन्‍होंने कहा कि हम महिलाओं को सैन्य पुलिस (Military Police) में शामिल कर रहे हैं. कुल 1700 वाहिनी सैन्य पुलिस में शामिल की जाएगी.
रक्षा मंत्री ने सीमाओं की सुरक्षा और देश की एकता का श्रेय जवानों को दिया
सेना प्रमुख ने बताया कि सैन्‍य पुलिस के लिए इस साल 6 जनवरी से 101 महिलाओं का प्रशिक्षण शुरू किया जा चुका है. इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने कहा है कि 20-21 सालों से चीफ ऑफ डिफेंस स्‍टाफ (CDS) को लेकर चर्चा हो रही थी. जैसे ही मैं रक्षा मंत्री बना और पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से इस पर बात की तो उन्होंने तुरंत इसकी मंजूरी दे दी. उन्‍होंने कहा कि भारत की सीमाओं (Indian Borders) के साथ ही देश की एकता व अखंडता की सुरक्षा का श्रेय भी जवानों को जाता है.

नौसेना प्रमुख ने कहा, सेनाओं की सकारात्‍मक तस्‍वीर पेश करें पूर्व सैनिक
इस मौके पर नेवी प्रमुख (Navy Chief) एडमिरल करमबीर सिंह (Admiral Karambir Singh) ने कहा है कि सैनिक समाज में हासिल किए सम्मान का इस्तेमाल करें. अगर कोई गलतफहमी समाज में फैल रही है तो सोशल मीडिया (Social Media) में सेनाओं की सकारात्मक तस्वीर पेश करें. आज सूचनाओं का जमाना है. इनमें कुछ अच्छी होती हैं तो कुछ गलत बातें भी सोशल मीडिया पर शेयर की जाती हैं. कोशिश करें कि इस भ्रम को दूर करने के लिए आगे आएं. उन्‍होंने कहा कि मौजूदा कर्मियों और पूर्व कर्मियों के बीच हमेशा संबंध बना रहता है. आप सुझावों, अनुरोधों, सिफारिशों और पाठ्यक्रम में सुधार को लेकर सेना से संपर्क करने में ना कतराएं.

ये भी पढ़ें:

 

संसद की कैंटीन में जल्‍द ही मिलना बंद हो जाएगी बिरयानी-मछली और नॉनवेज चिप्‍स!

गृह मंत्रालय ने एनआईए को सौंपी डीएसपी दविंदर सिंह मामले की जांच!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 14, 2020, 7:08 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर