• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • सेना ने कांग्रेस के 6 सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को झुठलाया, कहा- सितंबर 2016 से पहले कभी नहीं हुआ ऐसा

सेना ने कांग्रेस के 6 सर्जिकल स्ट्राइक के दावे को झुठलाया, कहा- सितंबर 2016 से पहले कभी नहीं हुआ ऐसा

सेना ने RTI के जवाब में बताया, सितंबर 2016 से पहले कभी नहीं पाकिस्तान की जमीन पर सर्जिकल स्ट्राइक.

सेना ने RTI के जवाब में बताया, सितंबर 2016 से पहले कभी नहीं पाकिस्तान की जमीन पर सर्जिकल स्ट्राइक.

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर बताया, एक RTI के मुताबिक भारतीय सेना ने 2016 में पहली बार सर्जिकल स्ट्राइक की.

  • Share this:
    लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक के दम पर बाकी दलों से बढ़त लेती हुई दिखी तो कांग्रेस ने भी दावा कर दिया कि UPA के समय भी 6 सर्जिकल स्ट्राइक की गई थीं. इस पर दायर एक RTI के जवाब में सेना ने बताया है कि UPA के समय में पाकिस्तान की जमीन पर कोई सर्जिकल स्ट्राइक नहीं की गई थी.

    ये भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2019: सट्टा बाजार में दांव पर लगे 12,000 करोड़ रुपये

    जम्मू के एक आरटीआई कार्यकर्ता की अर्जी पर सेना के महानिदेशक सैन्य अभियान (DGMO) ने मंगलवार को यह जानकारी दी. आरटीआई कार्यकर्ता रोहित चौधरी ने जानकारी मांगी थी कि 2004 से 2014 के बीच और सितंबर 2014 के बाद सेना ने पाकिस्तान पर कितनी बार सर्जिकल स्ट्राइक की? इनमें कितनी सफल हुईं? जवाब में डीजीएमओ ने बताया कि हमारे पास 29 सितंबर, 2016 से पहले की गई किसी सर्जिकल स्ट्राइक की जानकारी नहीं है.

    बता दें कि हाल में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा था कि कांग्रेस सरकार ने सशस्त्र बलों को खुली छूट दी थी. यूपीए शासनकाल में सेना ने कई सर्जिकल स्ट्राइक की थीं. हमारे लिए सैन्य अभियान भारत विरोधी ताकतों को माकूल जवाब देने का जरिया थीं, न कि वोट जुटाने का तरीका. बीजेपी ने पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के दावे पर सवाल खड़े करते हुए कहा था कि कांग्रेस को झूठ बोलने की लत लग गई है.

    केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने 2 मई को रोहित चौधरी की आरटीआई का जिक्र करते हुए ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, 'अभी तक कांग्रेस सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांग रही थी. अब वे कह रहे हैं कि उन्होंने भी 6 सर्जिकल स्ट्राइक की थीं. एक आईटीआई में खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान पर पहली सर्जिकल स्ट्राइक सितंबर 2016 में हुई थी. इससे पहले कभी ऐसा हमला नहीं किया गया था.'

    ये भी पढ़ें: धनबाद: राहुल गांधी के रोड शो में लगे मोदी जिंदाबाद के नारे

    इस पर कुछ लोगों ने सवाल किया कि प्रकाश जावड़ेकर किस आरटीआई की बात कर रहे हैं. इसके बाद मंगलवार को आरटीआई पर मिले सेना के जवाब को सार्वजनिक किया गया.

    ये भी पढ़ें: अमेरिका की वजह से बर्बादी की कगार पर पहुंचा ये मुस्लिम देश!

    हालांकि, अप्रैल 2018 में एक आरटीआई के जवाब में सेना के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी लेफ्टिनेंट कर्नल एडीएस जसरोतिया ने बताया था कि भारतीय सेना ने सितंबर 2016 से पहले सिर्फ नियंत्रण रेखा पर सर्जिकल स्ट्राइक की थीं. इनमें कोई जवान शहीद नहीं हुआ था. उड़ी हमले के 11 दिन बाद 29 सितंबर 2016 में भारतीय बलों ने नियंत्रण रेखा के पार जाकर आतंकियों के प्रशिक्षण शिविर पर धावा बोला था. इस हमले में आतंकियों के प्रशिक्षण शिविर और कई लॉन्चिंग पैड ध्वस्त कर दिए गए थे.

    ये भी पढ़ें- ICSE, ISC Result 2019: 10वीं में वारुणी, शाम्भवी और हर्षित संयुक्त टॉपर, 12वीं में अनुष्का अव्व्ल

    ये भी पढ़ें- बोले बिहारी बाबू- 2019 में पीएम मोदी की कहानी खत्म, बेकार में किए जा रहे झूठे वादे

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी WhatsAppअपडेट्स

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज