Arnab Goswami Arrested: अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी पर बोले गृह मंत्री अमित शाह- कांग्रेस और सहयोगियों ने लोकतंत्र को फिर किया शर्मिंदा

अमित शाह.
अमित शाह.

Arnab Goswami News: मुंबई पुलिस ने एक 53 वर्षीय इंटीरियर डिजाइनर को कथित तौर पर आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में बुधवार को रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami) को गिरफ्तार किया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने वरिष्ठ पत्रकार अर्नब गोस्वामी (Arnab Goswami)की गिरफ्तारी को 'सत्ता का खुल्लम-खुल्ला दुरुपयोग' करार दिया और बुधवार को कहा कि 'प्रेस की आजादी पर हमले का विरोध जरूर होना चाहिए.'

अमित शाह ने विपक्षी दलों पर यह कहते हुए निशाना साधा कि उन्होंने एक बार फिर लोकतंत्र को कलंकित किया है और आज की घटना ने उन्हें आपातकाल की याद दिला दी. पुलिस ने 53 वर्षीय एक इंटीरियर डिजाइनर को कथित तौर पर आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में गोस्वामी को सुबह उनके मुंबई स्थित घर से गिरफ्तार किया था.





शाह ने ट्वीट कर आरोप लगाया, 'कांग्रेस और उसके सहयोगियों ने एक बार फिर लोकतंत्र को कलंकित किया है. रिपब्लिक टीवी और अर्नब गोस्वामी के खिलाफ सत्ता का खुल्लमखुल्ला दुरुपयोग व्यक्तिगत आजादी और लोकतंत्र के खैथे खम्भे पर पर हमला है.' उन्होंने आरोप लगाया, 'यह घटना आपातकाल की याद दिलाता है. प्रेस की आजादी पर इस हमले का विरोध जरूर होना चाहिए और विरोध किया जाएगा.'



एडिटर्स गिल्ड ने अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की निंदा की, ठाकरे से निष्पक्ष बर्ताव की मांग
इसके साथ ही एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया ने बुधवार को रिपब्लिक टीवी के प्रधान संपादक अर्नब गोस्वामी की ‘अचानक’ गिरफ्तारी की निंदा की और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से मांग की कि गोस्वामी के साथ निष्पक्ष व्यवहार किया जाए और मीडिया की आलोचनात्मक रिपोर्टिंग के खिलाफ सरकारी ताकत का इस्तेमाल नहीं किया जाए.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि गोस्वामी को 53 वर्षीय एक इंटीरियर डिजाइनर को कथित तौर पर खुदकुशी के लिए उकसाने के मामले में बुधवार सुबह उनके मुंबई स्थित आवास से गिरफ्तार किया गया. गिल्ड ने एक बयान में कहा कि गोस्वामी की गिरफ्तारी की खबर चौंकाने वाली है. उसने कहा, ‘हम अचानक गिरफ्तारी की निंदा करते हैं और यह अत्यंत पीड़ादायी है.’

अर्नब की गिरफ्तारी पर मंत्रियों एवं भाजपा का आक्रोश चुनिंदा और शर्मनाक : कांग्रेस
दूसरी ओर कांग्रेस ने टेलीविजन पत्रकार अर्नब गोस्वामी की गिरफ्तारी की सरकार एवं भाजपा नेताओं की ओर से निंदा किए जाने पर बुधवार को आरोप लगाया कि इनका आक्रोश चुनिंदा और शर्मनाक है. पार्टी प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने यह भी कहा कि इस मामले में कानून अपना काम करेगा. उन्होंने कहा, ‘मैं हैरान हूं कि सरकार में बैठे लोगों का आक्रोश बहुत चुनिंदा है. जब उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में लोगों के नमक-रोटी खाने की खबर प्रकाशित करने पर एक पत्रकार को महीनों जेल में डाल दिया जाता है, जब पत्रकारों को देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार किया जाता है तो यह आक्रोश क्यों नहीं दिखता?’

कांग्रेस प्रवक्ता ने दावा किया, ‘भाजपा इस देश में आखिरी पार्टी होनी चाहिए जो प्रेस की स्वतंत्रता के बारे में बात कर सकती है. उसका रुख शर्मनाक है.’ सुप्रिया ने आरोप लगाया, ‘जिस पत्रकार की बात हो रही है उन्होंने पत्रकारिता का मखौल बनाया है. वह भाजपा के ‘मोर्चे’ की तरह काम कर रहे हैं.’ उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस शासित राज्य में किसी के साथ कोई अन्याय नहीं होगा और कानून अपना काम करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज