अपना शहर चुनें

States

सुरक्षा एजेंसियों के हत्थे चढ़ा लश्कर ए मुस्तफा का सरगना, जम्मू में हमले की फिराक में था आतंकी हिदायतुल्ला

जम्मू-कश्मीर पुलिस को हिदायतुल्ला की तलाश मई 2020 में पुलवामा में बरामद किए गए शक्तिशाली कार बम मामले में भी थी. ANI
जम्मू-कश्मीर पुलिस को हिदायतुल्ला की तलाश मई 2020 में पुलवामा में बरामद किए गए शक्तिशाली कार बम मामले में भी थी. ANI

Lashkar-e-Mustafa Chief Hidayatullah Malik: हिदायतुल्ला की तलाश मई 2020 में पुलवामा में बरामद किए गए शक्तिशाली कार बम मामले में भी थी. पुलिस ने बरामदगी के बाद कार बम को सुरक्षित नष्ट कर दिया था. हिदायतुल्ला इस मामले में वांछित 10 आरोपियों में से एक था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 7, 2021, 12:22 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद (Jaish-e-Mohammed) से जुड़े लश्कर ए मुस्तफा के सरगना हिदायतुल्ला मलिक को शनिवार को जम्मू और अनंतनाग पुलिस ने एक साझे ऑपरेशन में गिरफ्तार कर लिया. कश्मीर में लश्कर ए मुस्तफा, जैश ए मोहम्मद से ही जुड़ा एक छोटा संगठन है. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने कहा कि हिदायतुल्ला, लश्कर ए मुस्तफा (Lashkar-e-Mustafa) आतंकी संगठन का सरगना था और पुलिस ने उसे जम्मू के कुंजवानी से गिरफ्तार किया है. अधिकारियों ने बताया कि शोपियां जिले का ‘ए' श्रेणी का आतंकवादी हिदायतुल्लाह मलिक के कब्जे से एक पिस्तौल और ग्रेनेड जब्त किया गया. जम्मू के एसएसपी श्रीधर पाटिल ने कहा कि जब हम उसे गिरफ्तार करने पहुंचे तो उसने पुलिस पार्टी पर हमला कर दिया.

सुरक्षा एजेंसियों को हिदायतुल्ला की लंबे समय से तलाश थी. पुलिस के मुताबिक इससे पहले गिरफ्तार चार आतंकियों से पूछताछ में पता चला था कि शनिवार को गिरफ्तार हिदायतुल्ला मलिक (Hidayatullah Malik) केंद्रशासित प्रदेश की शीतकालीन राजधानी जम्मू में बड़े हमले की योजना बना रहा था. इसके साथ ही पुलिस को हिदायतुल्ला की तलाश मई 2020 में पुलवामा में बरामद किए गए शक्तिशाली कार बम मामले में भी थी. पुलिस ने बरामदगी के बाद कार बम को सुरक्षित नष्ट कर दिया था. हिदायतुल्ला इस मामले में वांछित 10 आरोपियों में से एक था.

कौन है हिदायतुल्लाह मलिक
बता दें कि कश्मीर में पिछले दो सालों में पांच नए आतंकी संगठन टीआरएफ, पीएएफएफ, जम्मू-कश्मीर गजनवी फोर्स, लश्कर ए मुस्तफा और कश्मीर टाइगर्स सक्रिय हैं. लश्कर ए मुस्तफा आतंकी संगठन की सक्रियता अगस्त 2020 के अंतिम सप्ताह के दौरान पहली बार कश्मीर घाटी में महसूस की गई थी. लश्कर ए मुस्तफा आतंकी संगठन का कमांडर हिदायतुल्ला शोपियां जिले का रहने वाला है. उसका कोड नाम हसनैन भी है. लश्कर ए मुस्तफा के आतंकवादियों ने नवंबर 2020 में शोपियां में जम्मू-कश्मीर बैंक की एक कैश वैन से 60 लाख रुपये लूटे थे.



इसके बाद 10 नवंबर 2020 को शोपियां के कटपोरा में सुरक्षा बलों ने एक मुठभेड़ के दौरान कैश वैन लूट में शामिल दो आतंकियों को मार गिराया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज