आर्टिकल 370 पर अधीर रंजन के सेल्फ-गोल से घिरी कांग्रेस, कुछ ऐसा था सोनिया गांधी का रिएक्शन

लोकसभा (Loksabha) में आर्टिकल 370 (Article 370) पर बहस के दौरान अधीर रंजन के बगल में बैठीं संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) चेयरपर्सन सोनिया गांधी भी हैरान नज़र आईं. उनके रिएक्शन से साफ दिखा कि वह अधीर रंजन के बयान से बिल्कुल इत्तेफाक नहीं रखती हैं और खासी नाराज़ हैं.

News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 6:06 PM IST
आर्टिकल 370 पर अधीर रंजन के सेल्फ-गोल से घिरी कांग्रेस, कुछ ऐसा था सोनिया गांधी का रिएक्शन
अधीर रंजन के बयान पर उनके बगल में बैठीं संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) चेयरपर्सन सोनिया गांधी भी हैरान नज़र आईं.
News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 6:06 PM IST
जम्मू-कश्मीर (jammu and kashmir) को स्पेशल स्टेटस देने वाले संविधान के आर्टिकल 370  (Article 370) को खत्म करने और कश्मीर के दो हिस्से करने वाले बिल पर लोकसभा में घमासान मचा है. कांग्रेस ने जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल  का कड़ा विरोध किया, लेकिन इस दौरान कांग्रेस अपने ही एक बयान पर घिर गई.

दरअसल, कांग्रेस संसदीय दल के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस बिल का विरोध करते हुए कहा कि कश्मीर भारत का अंदरूनी मसला नहीं है. ये एक द्विपक्षीय मसला है और संयुक्त राष्ट्र 1948 से इसपर मॉनिटरिंग कर रही है. अधीर के इस सेल्फ गोल से सदन में कांग्रेस के खिलाफ नारेबाजी होने लगी. अधीर रंजन के बगल में बैठीं संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (UPA) चेयरपर्सन सोनिया गांधी भी हैरान नज़र आईं. उनके रिएक्शन से साफ दिखा कि वह अधीर रंजन के बयान से बिल्कुल इत्तेफाक नहीं रखती हैं और खासी नाराज़ हैं. हालांकि, सोनिया गांधी ने मनीष तिवारी के भाषण की तारीफ की है और कहा है कि मनीष तिवारी ने पार्टी के पक्ष को सही तरीके से पहुंचाया है.

कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटने पर बोले राहुल- राष्ट्रीय सुरक्षा पर हो सकता है गंभीर खतरा

अधीर रंजन ने क्या कहा?

अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आपने (अमित शाह) अभी कहा कि कश्मीर अंदरूनी मामला है, लेकिन यहां अभी भी संयुक्त राष्ट्र 1948 से मॉनिटरिंग करता आ रहा है. ऐसे में ये आंतरिक मामला कैसे हो सकता है. बस कांग्रेस नेता के इसी बयान पर गृहमंत्री अमित शाह भड़क गए थे.

अमित शाह ने दिया ये जवाब
अमित शाह ने कहा कि क्या कांग्रेस PoK (पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर) को भारत का हिस्सा नहीं मानती है, हम इसके लिए जान देने को तैयार हैं. उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर का मतलब Pok और अक्साई चिन से भी है, क्योंकि इसमें दोनों समाहित हैं. गृहमंत्री ने कहा कि आज के प्रस्ताव और बिल भारत के इतिहास में स्वर्ण अक्षरों में लिखे जाएंगे. यह महान सदन इस पर विचार करने जा रहा है.
Loading...


विपक्ष को जवाब देते हुए अमित शाह ने कहा- 'यह पॉलिटिकल चीज नहीं है. यह कानूनी विषय है. जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, इस बारे में कोई कानूनी विवाद नहीं है. भारत और जम्मू-कश्मीर के संविधान में बहुत साफ है कि वह भारत का अभिन्न अंग है. जम्मू-कश्मीर में संविधान के आर्टिकल 1 के सारे आर्टिकल लागू हैं. इसमें साफ लिखा है कि भारत सभी राज्यों का एक संघ है.' शाह ने अधीर रंजन से पूछा क्या आप यही चाहते हैं कि यूएन जम्मू-कश्मीर पर मॉनिटरिंग करे?


सूत्रों ने CNN-News18 को बताया कि यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी अधीर रंजन के इस बयान से बेहद नाराज़ हैं. उन्होंने इस बयान पर सहमति नहीं जताई है. सूत्रों का ये भी कहना है कि सोनिया गांधी ने अधीर रंजन चौधरी से अलग से मुलाकात भी की है.

आर्टिकल 370 पर दो हिस्सों में बंटी कांग्रेस
बता दें कि आर्टिकल 370 पर कांग्रेस के अंदर मतभेद है. एक हिस्सा इस आर्टिकल को हटाने का विरोध कर रहा है, जबकि कांग्रेस के युवा नेता इस फैसले के लिए मोदी सरकार का समर्थन कर रहे हैं. आर्टिकल 370 हटाने के फैसले का समर्थन करने वाले कांग्रेस नेताओं में जनार्दन द्विवेदी, दीपेंदर हुडा, रायबरेली की विधायक अदिति सिंह भी शामिल हैं. हालांकि, इन नेताओं का कहना है कि ये उनका निजी बयान है.

ये भी पढ़ें: जानें कश्मीर का वो हिस्सा कैसा है, जिस पर पाकिस्तान का कब्ज़ा है

ये भी पढ़ें: Opinion: कश्मीर पर कांग्रेस को लेनी चाहिए नेहरू-शेख की दोस्ती से सीख

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2019, 3:16 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...