फारूक अब्दुल्ला के दावे पर शाह का जवाब- अपने मन से घर में हैं, कनपटी पर बंदूक रखकर बाहर नहीं ला सकते

अमित शाह (Amit Shah) ने कहा फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) जी अपने घर पर हैं, वह नज़रबंद नहीं हैं, न ही उन्हें हिरासत में लिया गया है. उनकी तबियत बिल्कुल ठीक है, मौज-मस्ती में है, उनको नहीं आना है तो बंदूक कनपटी पर रखकर बाहर नहीं ला सकते हैं.

News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 8:27 PM IST
फारूक अब्दुल्ला के दावे पर शाह का जवाब- अपने मन से घर में हैं, कनपटी पर बंदूक रखकर बाहर नहीं ला सकते
अमित शाह (Amit Shah) ने कहा फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) जी अपने घर पर हैं, वह नज़रबंद नहीं हैं, न ही उन्हें हिरासत में लिया गया है. उनकी तबियत बिल्कुल ठीक है, मौज-मस्ती में है, उनको नहीं आना है तो बंदूक कनपटी पर रखकर बाहर नहीं ला सकते हैं.
News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 8:27 PM IST
गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने मंगलवार को आर्टिकल 370 (Article 370) पर चल रही चर्चा के दौरान लोकसभा में कहा कि नेशनल कान्फ्रेंस के नेता और सांसद फारूक अब्दुल्ला को न तो हिरासत में लिया गया है और न ही गिरफ्तार किया गया है, वह अपनी मर्जी से अपने घर में हैं. गृह मंत्री की यह टिप्पणी सदन में राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी की सुप्रिया सुले द्वारा फारूक अब्दुल्ला के सदन में उपस्थित नहीं होने का जिक्र किये जाने पर आई.

सुप्रिया सुले ने सदन में अपनी सीट के पास वाली सीट की ओर इशारा करते हुए कहा कि आज वह (फारूक) सदन में नहीं हैं, उनकी आवाज नहीं सुनी जा सकी. इस पर गृह मंत्री अमित शाह ने कहा, ‘‘वह न तो हिरासत में हैं और न ही गिरफ्तार किया गया है, वह अपनी मर्जी से अपने घर पर हैं.’’ जब सुले ने कहा कि हो सकता है नेशनल कांफ्रेंस नेता अस्वस्थ हों. इस पर शाह ने कहा कि इसके बारे में डॉक्टर बता सकते हैं . उन्होंने कहा, ‘‘मैं इलाज नहीं कर सकता, यह डाक्टरों को करना है.’’

फारूक अब्दुल्ला की सदन में अनुपस्थिति पर गृह मंत्री ने कहा कि मैंने ये पहले भी तीन बार साफ कर दिया है कि फारूक अब्दुल्ला जी अपने घर पर हैं, वह नज़रबंद नहीं हैं, न ही उन्हें हिरासत में लिया गया है. उनकी तबियत बिल्कुल ठीक है, मौज-मस्ती में है, उनको नहीं आना है तो बंदूक कनपटी पर रखकर बाहर नहीं ला सकते हैं.



उन्होंने कहा कि अब मैं चौथी बार कह रहा हूं और मुझमें इतना धैर्य है कि मैं यह 10 बार कह सकता हूं कि फारूक अब्दुल्ला को न तो हिरासत में लिया गया है न गिरफ्तार किया गया है. अगर उनकी तबियत ठीक नहीं है तो डॉक्टर उन्हें अस्पताल लेकर जाएंगे. सदन को इसकी चिंता नहीं होनी चाहिए. अगर वह ठीक नहीं हैं तो उन्हें बाहर नहीं आना चाहिए.



लोकसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक 2019 एवं जम्मू-कश्मीर संबंधी संकल्प पर चर्चा के दौरान सुप्रिया सुले के अलावा कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी और द्रमुक के टीआर बालू ने भी नेशनल कांफ्रेंस नेता के बारे में जानना चाहा.
Loading...

ये भी पढ़ें-

मुस्लिम नेता, जिसने सबसे पहले किया था आर्टिकल 370 का विरोध

कश्मीर में खत्म लेकिन इन 11 राज्यों को हासिल है विशेष दर्जा

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2019, 5:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...