Article 370: पीएम मोदी ने थपथपाई गृह मंत्री अमित शाह की पीठ

प्रधानमंत्री ने कहा, शाह ने राज्‍यसभा में अनुच्‍छेद-*370 हटाने को लेकर पेश किए गए संकल्‍प पत्र पर हुई बहस पर दिए जवाब में अतीत में हुए ऐतिहासिक अन्‍याय पर विशेष रोशनी डाली.

News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 11:44 PM IST
Article 370: पीएम मोदी ने थपथपाई गृह मंत्री अमित शाह की पीठ
पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने अनुच्‍छेद-370 पर राज्‍यसभा में दिए अपने जवाब में अतीत में हुए ऐतिहासिक अन्‍याय पर रोशनी डाली.
News18Hindi
Updated: August 5, 2019, 11:44 PM IST
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 हटाकर दो केंद्रशासित राज्‍यों में बांटने के विधेयक पर राज्‍यसभा में हुई चर्चा पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह के दिए गए जवाब को लेकर उनकी पीठ थपथपाई. पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा कि शाह ने अपने जवाब में अतीत में हुए ऐतिहासिक अन्‍याय पर रोशनी डाली. साथ ही सूबे को लेकर सरकार के नजरिये की जानकारी भी लोगों को दे दी.

'गृह मंत्री ने जम्‍मू-कश्‍मीर को लेकर केंद्र का नजरिया भी किया स्‍पष्‍ट' 

प्रधानमंत्री मोदी ने ट्विटर पर एक वीडियो भी साझा किया, जिसमें अमित शाह राज्‍यसभा में जवाब दे रहे हैं. उन्‍होंने लिखा कि अमित शाह ने अपने भाषण में पूरी आक्रमकता के साथ हर मसले पर प्रकाश डाला. साथ ही उन्‍होंने इस मौके पर जम्‍मू-कश्‍मीर के भाई-बहनों के सामने सूबे को लेकर एनडीए सरकार का नजरिया भी स्‍पष्‍ट कर दिया. बता दें कि गृह मंत्री ने राज्‍यसभा में कहा कि अनुच्‍छेद-370 सूबे में हालात सामान्‍य करने की राह में सबसे बड़ा रोड़ा है. एनडीए सरकार जम्‍मू-कश्‍मीर को देश का सबसे विकसित राज्‍य बनाने को लेकर प्रतिबद्ध है. अनुच्‍छेद-370 और 35ए को हटाए बिना आतंकवाद को खत्‍म नहीं किया जा सकता है.

'दो अनुच्‍छेदों के कारण सूबे में स्‍थापित नहीं पा रहा है लोकतंत्र'  

गृह मंत्री ने कहा कि संविधान के दो अनुच्‍छेदों के कारण जम्‍मू-कश्‍मीर को विशेष राज्‍य का दर्जा मिला था. इन्‍हीं अनुच्‍छेदों के कारण वहां भारतीय कानून लागू नहीं हो पाते हैं. इसकी वजह से वहां विकास नहीं हो पा रहा और भ्रष्‍टाचार को बढ़ावा मिल रहा है. सूबे में 70 साल से तीन परिवारों का शासन है. इससे वहां लोकतंत्र स्‍थापित नहीं हो पा रहा है और भ्रष्‍टाचार की जड़ें गहरी होती जा रही हैं. अनुच्‍छेद-370 ने सूबे के बर्बाद कर दिया. यही राज्‍य में गरीबी के लिए जिम्‍मेदार है.

अनुच्‍छेद-370 के कारण सूबे में स्‍थापित नहीं हो पा रहे उद्योग धंधे 

गृह मंत्री ने कहा कि जमीन नहीं खरीदने की बाध्‍यता के कारण राज्‍य में पर्यटन को भी बढ़ावा नहीं मिल पा रहा है. वहीं, इसी अनुच्‍छेद के कारण सूबे में उद्योग धंधे स्‍थापित नहीं पा रहे हैं. सूबे में स्‍वास्‍थ्‍य सेवाओं की कमी है. यही हाल शिक्षा का भी है. कश्‍मीर में शिक्षा का अधिकार लागू नहीं हो पाया. इस अनुच्‍छेद के हटने के बाद जम्‍मू-कश्‍मीर वास्‍तव में भारत का अभिन्‍न हिस्‍सा हो जाएगा.
Loading...

ये भी पढ़ें: 

संविधान की प्रति फाड़ने वाले पीडीपी नेताओं की छीनी जा सकती है नागरिकता

अनुच्‍छेद-370 हटाने वाले संकल्‍प पत्र पर कल लोकसभा में होगी वोटिंग

महबूबा और उमर को सुरक्षा कारणों के मद्देनजर एहतियातन हिरासत में लिया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 5, 2019, 11:37 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...