vidhan sabha election 2017

अय्यर के निलंबन के पीछे राहुल की रणनीति, लोग इसे समझें: अरुण जेटली

भाषा
Updated: December 8, 2017, 1:17 PM IST
अय्यर के निलंबन के पीछे राहुल की रणनीति, लोग इसे समझें: अरुण जेटली
File photo of Finance Minister Arun Jaitley.
भाषा
Updated: December 8, 2017, 1:17 PM IST
केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कांग्रेस नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ‘नीच’ कहने को जानबूझकर दिया गया जातिवादी बयान बताया. जेटली ने अय्यर के निलंबन को क्रांगेस का रणनीतिक खेल बताया और लोगों से इसे समझने की अपील की.

जेटली ने ट्वीट किया, मणिशंकर अय्यर का प्रधानमंत्री पर ‘नीच’ संबोधन वाला प्रहार जानबूझकर दिया गया जातिवादी बयान है. सुविधा के हिसाब से माफी मांग ली गई है, रणनीति की दृष्टि से उन्हें निलंबित किया गया है. लोगों को यह खेल समझना चाहिए. उन्होंने ने यह कहते हुए अय्यर पर पलटवार किया कि उनका बयान ऐसी मानसिकता को प्रदर्शित करता है कि केवल एक कुलीन परिवार ही शासन कर सकता है.



उससे पहले अय्यर ने मोदी को नीच आदमी संबोधित किया था. अय्यर से पहले प्रधानमंत्री ने कहा था कि बाबा साहब भीमराव अंबेडकर के जाने के बरसों बाद तक राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को मिटाने के प्रयास किए जाते रहे, लेकिन जिस परिवार के लिए ये सब किया गया, उस परिवार से कहीं ज्यादा लोग आज बाबा साहेब से प्रभावित हैं.



अय्यर की टिप्पणी पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए जेटली ने कहा कि प्रधानमंत्री को नीच कह कर कांग्रेस पार्टी ने भारत के कमजोर एवं पिछड़े वर्ग के लोगों को चुनौती दी है.

वित्त मंत्री ने अपने ट्वीट में कहा, लोकतंत्र की ताकत तब प्रदर्शित होगी जब एक कमजोर पृष्ठभूमि से आने वाला व्यक्ति राजनीतिक तौर पर वंशवाद और उसके प्रतिनिधियों को पराजित करेगा.



एक अन्य ट्वीट में जेटली ने कहा, प्रधानमंत्री को मणिशंकर अय्यर द्वारा नीच संबोधित करना ऐसी मानसिकता को प्रदर्शित करता है कि केवल एक कुलीन परिवार ही शासन कर सकता है, बाकी सब ‘नीच’ हैं.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर