अरुणाचल: आर्मी-पुलिसकर्मियों के बीच झड़प मामले में सुलह कराने पहुंचीं निर्मला और रिजिजू

अरुणाचल: आर्मी-पुलिसकर्मियों के बीच झड़प मामले में सुलह कराने पहुंचीं निर्मला और रिजिजू
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)

मामले पर किरण रिजिजू ने कहा, 'सेना और पुलिसकर्मियों के बीच हुए टकराव पर रक्षा मंत्री और मैंने गौर किया है. मैं सबसे अपील करता हूं कि इसे सेना बनाम पुलिस और नागरिक प्रशासन की तरह नहीं लें.'

  • Share this:
अरुणाचल प्रदेश के बोमडिया में सेना और पुलिस कर्मियों के बीच हुए संघर्ष से उपजी स्थिति की बुधवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू ने समीक्षा की. पिछले हफ्ते सेना के कुछ जवानों ने बोमडिया थाने में तोड़फोड़ की थी और पुलिस कर्मियों तथा आम लोगों पर हमला किया था.

मामले पर किरण रिजिजू ने कहा, 'सेना और पुलिसकर्मियों के बीच हुए टकराव पर रक्षा मंत्री और मैंने गौर किया है. मैं सबसे अपील करता हूं कि इसे सेना बनाम पुलिस और नागरिक प्रशासन की तरह नहीं लें.' अरूणाचल प्रदेश से ताल्लुक रखने वाले रिजिजू ने कहा कि दो नवंबर को बोमडिया में हुई दुर्भाग्यपूर्ण घटना को आपसी सहमति के जरिए सौहार्द से निपटाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: अब महिलाओं को भी बतौर सेलर भर्ती करने की सोच रही है नौसेना



उन्होंने कहा, 'सेना और पुलिस, दोनों ही अत्यंत ही समर्पण से राष्ट्र की सेवा कर रहे हैं. एक घटना से महान संस्थानों की छवि को धूमिल करने नहीं दिया जा सकता है.' सीतारमण और रिजिजू दोनों ने ही विश्वास बहाली के उपायों के तौर पर नागरिक समाज के सदस्यों से भी मुलाकात की. सीतारमण भारत-चीन सरहद पर अग्रिम इलाकों में तैनात सैनिकों के साथ दिवाली मनाने के लिए अरूणाचल प्रदेश में हैं.
ये भी पढ़ें: रक्षा मंत्रालय के प्रवक्‍ता को छुट्टी पर भेजा, सैन्‍य अधिकारियों की सुविधाओं पर उठाया था सवाल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading