अरुणाचल में भड़की हिंसा के बाद बोले सीएम खांडू- भविष्य में भी PRC मुद्दा नहीं उठाएगी सरकार

मुख्यमंत्री ने राज्य में भड़की हिंसा के पीछे कुछ लोगों की साजिश का आशंका जाहिर करते हुए कहा कि उन्होंने इस घटना की विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 25, 2019, 2:20 PM IST
  • Share this:
अरुणाचल प्रदेश में स्थानीय निवासी प्रमाण-पत्र (पीआरसी) को लेकर मचे हिंसक विरोध प्रदर्शन के बीच राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने साफ किया कि यह बिल वापस ले लिया गया है और भविष्य में भी सरकार यह मुद्दा नहीं उठाएगी. हालांकि इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने इस हिंसा के पीछे कुछ लोगों की साजिश का आशंका जाहिर करते हुए कहा कि उन्होंने इस घटना की विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं.

मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने स्थायी आवासीय प्रमाणपत्र को लेकर कहा, 'मैं अरुणाचल प्रदेश के लोगों को आश्वस्त करना चाहूंगा कि सरकार इस मुद्दे को भविष्य में भी नहीं उठाएगी, यह स्पष्ट संदेश है.' उन्होंने कहा, '22 फरवरी की रात को मैंने मीडिया तथा सोशल मीडिया के ज़रिये स्पष्ट किया था कि सरकार इस मुद्दे पर आगे चर्चा नहीं करेगी, आज भी मुख्य सचिव की मार्फत एक आदेश जारी किया गया है कि हम पीआरसी मामले पर आगे कार्यवाही नहीं करेंगे.'


ये भी पढ़ें- क्या है पीआरसी, जिसके विरोध में अरुणाचल में हिंसा हो रही है



समाचार एजेंसी एएनआई का मुताबिक, अरुणाचल प्रदेश के सीएम ने कहा- 'हमने इस घटना की आवश्यक तौर पर विस्तृत जांच के आदेश दिए हैं. पीआरसी के मुद्दे पर सरकार का रुख बिल्कुल साफ है, उसके बावजूद कई जगहों पर हिंसा हुई है. मैंने आयुक्त स्तरीय जांच समिति गठित की है. लोगों की बीच इसकी सच्चाई आना जरूरी है.'

ये भी पढ़ें- PRC के चलते रद्द हुआ अरुणाचल में होने वाला पहला इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल

खांडू ने कहा, 'मैं सभी प्रदर्शनकारियों से अपील करता हूं कि उनकी मांग सरकार ने 22 फरवरी को ही मान ली है. पीआरसी मुद्दे को बंद कर दिया गया है. मैं उन सभी से यह अनुरोध करता हूं कि वे प्रदर्शन, धरना छोड़कर सरकार के साथ सहयोग करें.'

बता दें कि अरुणाचल प्रदेश के बाहर के छह समुदायों को स्थायी आवासीय प्रमाण पत्र देने की सिफारिश के विरोध में छात्र और सिविल सोसाइटी ऑर्गनाइजेशन की बुलाई हड़ताल रविवार को हिंसक हो गई. इस दौरान प्रदर्शनकारियों ने उपमुख्यमंत्री चाउना मीन के निजी आवास में आग लगा दी, वहीं पुलिस थाने को भी आग के हवाले कर दिया. इस दौरान हुए पथराव में 24 पुलिसकर्मियों सहित 35 लोग घायल हो गए.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading