Home /News /nation /

अरुणाचल प्रदेश से किशोर के अपहरण का मामला, सेना हुई अलर्ट; विपक्ष ने केंद्र पर उठाए सवाल

अरुणाचल प्रदेश से किशोर के अपहरण का मामला, सेना हुई अलर्ट; विपक्ष ने केंद्र पर उठाए सवाल

भारतीय किशोर मीरम तारोन के अपहरण की खबर है. (फोटो: Twitter/@TapirGao)

भारतीय किशोर मीरम तारोन के अपहरण की खबर है. (फोटो: Twitter/@TapirGao)

Miram Taron Abduction Case: सांसद तापिर गाओ ने ट्वीट किया था, 'चीन की पीएलए ने कल 18 जनवरी 2022 को अपर सियांग जिला के सियुंगला इलाके के तहत भारतीय क्षेत्र लुंगता जोर इलाके से जीडो विल के 17 वर्षीय मिरम तारोन का अपहरण कर लिया है.' उन्होंने एक अन्य ट्वीट किया, 'उसका दोस्त पीएलए से बचकर भागा और अधिकारियों को जानकारी दी. भारत सरकार की सभी एजेंसियों से आगे आकर जल्दी रिहाई का अनुरोध किया गया है.'

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. अरुणाचल प्रदेश (Arunachal Pradesh) में 17 वर्षीय किशोर के अपहरण पर भारतीय सेना (Indian Army) भी सक्रिय हो गई है. खबर है कि सेना ने इस संबंध से चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) से संपर्क किया है. इसी बीच भारतीय किशोर के गायब होने पर विपक्ष भी केंद्र सरकार पर निशाना साध रहा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने कहा है कि वे किशोर के परिवार के साथ है. बुधवार को भारतीय जनता पार्टी सांसद तापिर गाओ ने ट्वीट के जरिए इस घटना की जानकारी दी थी.

समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, रक्षा सूत्रों ने बताया है, ‘अरुणाचल प्रदेश से गायब हुई मीरम तारोन नाम के किशोर के संबंध में यह पता चला है कि सूचना मिलने पर भारतीय सेना ने हॉटलाइन के जरिए तत्काल पीएलए से संपर्क किया है, जिसमें सूचना दी गई है कि एक किशोर जो जड़ी-बूटियां और शिकार इकट्ठा कर रहा था, वह रास्ता भटक गया और मिल नहीं रहा है. प्रोटोकॉल के अनुसार, उनके पक्ष में युवा का पता लगाने और किशोर की वापसी के लिए पीएलए से मदद मांगी गई है.’

सांसद ने लोअर सुबनसिरी जिले के जिला मुख्यालय जिरो से फोन पर पीटीआई-भाषा से कहा कि पीएलए से बचकर भागने में कामयाब रहे तरोन के मित्र जॉनी यइयिंग ने स्थानीय अधिकारियों को अपहरण के बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि दोनों किशोर जिडो गांव के रहनेवाले हैं. सांसद ने कहा कि यह घटना उस स्थान के पास हुई, जहां शियांग नदी अरुणाचल प्रदेश में भारत में प्रवेश करती है.

इससे पहले सांसद तापिर गाओ ने ट्वीट किया था, ‘चीन की पीएलए ने कल 18 जनवरी 2022 को अपर सियांग जिला के सियुंगला इलाके के तहत भारतीय क्षेत्र लुंगता जोर इलाके से जीडो विल के 17 वर्षीय मिरम तारोन का अपहरण कर लिया है.’ उन्होंने एक अन्य ट्वीट किया, ‘उसका दोस्त पीएलए से बचकर भागा और अधिकारियों को जानकारी दी. भारत सरकार की सभी एजेंसियों से आगे आकर जल्दी रिहाई का अनुरोध किया गया है.’

गाओ ने बताया था कि घटना के बारे में केंद्रीय गृह राज्य मंत्री निशीथ प्रमाणिक को जानकारी दे दी गई है और इस संबंध में जरूरी कार्रवाई का अनुरोध किया गया है. उन्होंने अपने ट्वीट्स में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और भारतीय सेना को टैग किया है.

यह भी पढ़ें: Railway का बड़ा फैसला, ट्रेन में रात में मोबाइल पर तेज म्‍यूजिक सुनने या शोर-शराबा करने पर हो सकती है कार्रवाई

उत्तर पूर्वी राज्य के पूर्व सांसद निनॉन्ग एरिंग ने कहा कि घटनाक्रम चौंकाने वाले हैं और ‘हमारी धरती पर चीनी घुसपैठ की जांच की जानी चाहिए.’ उन्होंने न्यूज18 को बताया, ‘सीमा बहुत बड़ी और कई जगहों पर पहरेदारी नहीं है. अपहरण और घुसपैठ जारी है, जिसे गंभीरता से लिए जाने की जरूरत है. हमें चीन को एहसास कराना चाहिए.’ राहुल गांधी ने ट्वीट किया, ‘गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले भारत के एक भाग्य विधाता का चीन ने अपहरण किया है- हम मीराम तारौन के परिवार के साथ हैं और उम्मीद नहीं छोड़ेंगे, हार नहीं मानेंगे. PM की बुज़दिल चुप्पी ही उनका बयान है- उन्हें फर्क नहीं पड़ता!’

सितंबर 2020 में पीएलए ने अरुणाचल प्रदेश के अपर सुबानसिरी जिले से 5 युवाओं का अपहरण किया था. हालांकि, करीब एक हफ्ते बाद उन्हें रिहा कर दिया गया था. खास बात है कि अपहरण की यह ताजा घटना ऐसे समय पर सामने आई जब पूर्वी लद्दाख में भारतीय सेना और चीनी पक्ष के बीच तनाव जारी है.

Tags: Arunachal pradesh, China, PLA

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर