Home /News /nation /

NCB के इन 5 दावों के खारिज होने से आर्यन खान को मिली जमानत, HC के बेल ऑर्डर में हुआ खुलासा

NCB के इन 5 दावों के खारिज होने से आर्यन खान को मिली जमानत, HC के बेल ऑर्डर में हुआ खुलासा

एनसीबी ने आरोपियों की व्हाट्स चैट के आधार पर आरोप लगाया था .(फाइल फोटो)

एनसीबी ने आरोपियों की व्हाट्स चैट के आधार पर आरोप लगाया था .(फाइल फोटो)

Aryan Khan, Bombay High Court, NCB: नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने (Narcotics Control Bureau) आर्यन समेत 3 आरोपियों को क्रूज पर ड्रग्स लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था. इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट (Bombay High Court) ने आरोपियों को 28 अक्टूबर को जमनात दे दी थी. हालांकि विस्तृत बेल ऑर्डर शनिवार को उपलब्ध हुआ. इस बेल ऑर्डर में हाईकोर्ट कहा है कि आरोपियों के पास से ऐसा कुछ नहीं मिला है जिसे आपत्तिजनक माना जाए और यह कहा जाए

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली: आर्यन खान से जुड़े ड्रग्स केस (Aaryan Khan Drugs Case) में बॉम्बे हाईकोर्ट ने बेल ऑर्डर रिलीज किया है. इस ऑर्डर में कोर्ट ने एनसीबी के सभी 5 दावों को खारिज करके आर्यन खान (Aryan khan), अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा (Munmun Dhamech) को जमानत दी है. बेल ऑर्डर में हाईकोर्ट ने कहा है कि आरोपियों के पास से ऐसा कुछ नहीं मिला है जिसे आपत्तिजनक माना जाए और यह कहा जाए कि उन्होंने साजिश के तहत ड्रग्स (Drugs) लेने का प्लान बनाया था.

    ड्रग्स केस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट से आर्यन खान को बड़ी राहत मिली है. इस केस में उच्च न्यायालय ने बेल ऑर्डर रिलीज किया है. जिसमें यह बताया गया है कि आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा को किस आधार पर जमानत दी गई है. इस बेल ऑर्डर में हाईकोर्ट कहा है कि आरोपियों के पास से ऐसा कुछ नहीं मिला है जिसे आपत्तिजनक माना जाए और यह कहा जाए कि उन्होंने साजिश के तहत ड्रग्स लेने का प्लान बनाया था.

    नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो ने (Narcotics Control Bureau) आर्यन समेत 3 आरोपियों को क्रूज पर ड्रग्स लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था. इस मामले में बॉम्बे हाईकोर्ट ने आरोपियों को 28 अक्टूबर को जमनात दे दी थी. हालांकि विस्तृत बेल ऑर्डर शनिवार को उपलब्ध हुआ.

    इन 5 पाइंट के आधार पर हाईकोर्ट ने NCB के आरोपों को नकारा

    साजिश के आरोप: एनसीबी ने आर्यन खान समेत 3 आरोपियों पर साजिश के तहत ड्रग्स लेने का आरोप लगाया था. एनसीबी के अनुसार, तीनों ने क्रूज पर पार्टी में ड्रग्स लेने का प्लान बनाया था. लेकिन इस आरोप को लेकर एजेंसी पर्याप्त सबूत नहीं दे पाई. इसके बाद हाईकोर्ट ने कहा कि यह नहीं माना जा सकता है कि आर्यन समेत तीनों आरोपियों ने साजिश के तहत ड्रग्स लेने का प्लान बनाया था.

    व्हाट्स ऍप चैट के आधार पर केस: एनसीबी ने आरोपियों की व्हाट्स चैट के आधार पर आरोप लगाया था कि ये लोग साजिश करके साथ पार्टी में गए थे. लेकिन कोर्ट ने इसे मानने से कर दिया और कहा कि इसमें कुछ भी आपत्तिजनक नहीं था. उनके व्हाट्स चैट से ऐसा कुछ सामने नहीं आया.

    यह भी पढ़ें- आर्यन खान की जमानत के डिटेल ऑर्डर पर बोले नवाब मलिक- साबित हुआ ये वसूली के लिए किडनैपिंग का मामला था

    मादक पदार्थ रखना और उनका सेवन: आर्यन समेत तीनों आरोपियों को NCB ने ड्रग्स रखने, खरीदने, बेचने और उसे लेने के आरोप में गिरफ्तार किया था. हालांकि हाईकोर्ट ने यह पाया कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स बरामद नहीं हुआ. इसलिए कोर्ट ने एजेंसी के इस आरोप को भी खारिज कर दिया.

    आर्यन खान का इकबालिया बयान: कोर्ट ने कहा कि एनसीबी ने धारा 67 के तहत आर्यन खान का इकबालिया बयान दर्ज किया था. NDPS एक्ट के तहत यह बयान सिर्फ जांच के लिए विचार में लाया जा सकता है लेकिन इसे यह नहीं माना जा सकता है कि आरोपी ने अपराध किया है.

    अपराध के लिए सजा: हाईकोर्ट ने कहा कि तीनों आरोपियों को पहले ही लगभग 25 दिनों तक कैद में रखा गया और अभियोजन पक्ष ने कोई मेडिकल टेस्ट नहीं कराया, जिससे यह साबित हो सके कि उन्होंने ड्रग्स का सेवन किया था या नहीं. जस्टिस निचिन साम्ब्रे ने कहा कि अगर अभियोजन पक्ष की दलीलों पर भी विचार किया जाए तो इस प्रकार के अपराध के लिए सजा एक वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए.

    Tags: Aryan Khan, Bombay high court, NCB

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर