लाइव टीवी

हवा का प्रदूषण बढ़ा, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के CM ने केंद्र से की आपात बैठक बुलाने की गुजारिश

News18Hindi
Updated: November 2, 2019, 11:52 PM IST
हवा का प्रदूषण बढ़ा, दिल्ली, पंजाब और हरियाणा के CM ने केंद्र से की आपात बैठक बुलाने की गुजारिश
नई दिल्ली में इंडिया गेट का एक दृश्य (फोटो क्रेडिट- PTI)

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और हरियाणा के सीएम मनोहर लाल खट्टर ने जहां केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखा है. पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने पीएम नरेन्द्र मोदी को तुरंत इस मामले में दखल देने के लिए एक पत्र लिखा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 2, 2019, 11:52 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. केंद्रीय राजधानी और इसके आसपास के इलाकों के जहरीले स्मॉग को रोक पाने में नाकाम रहने के बाद एक-दूसरे पर आरोपों-प्रत्यारोपों के बीच दिल्ली, पंजाब और हरियाणा की सरकारों ने शनिवार को केंद्र सरकार के आपात हस्तक्षेप की मांग की है. ये सभी राज्य चाहते हैं कि केंद्र के साथ मिलकर एक संयुक्त प्लान तैयार किया जाए और उसे लागू किया जाए ताकि इस गंभीर परिस्थिति से निपटा जा सके.

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अधिकारियों ने शनिवार को कहा कि दिल्ली को लगातार बने हुए वायु प्रदूषण से 7-8 नवंबर तक राहत नहीं मिलेगी और इस समय तक दिल्ली पर घना स्मॉग छाया रहेगा.

दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया ने केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर पर राज्य के पर्यावरण मंत्री के साथ बैठक को तीन बार टालने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा है कि 12 सितंबर, 17 अक्टूबर और 19 अक्टूबर को प्रकाश जावड़ेकर ने मीटिंग को टाला. सिसौदिया ने आरोप लगाया कि वे दूसरे मुख्यमंत्रियों को 'विलेन' बनाना चाहते हैं.

सिसौदिया ने यह दावा भी किया है कि केंद्र सरकार 63,000 मशीनें केंद्र सरकार पराली जलाने पर रोक लगाने के लिए बना रही है. जो कि दो सालों में उपलब्ध होंगीं. इस कार्यक्रम को लागू करने में 50 से 60 साल लग सकते हैं. इस दौरान दिल्ली-एनसीआर को क्या करना चाहिए?

यह भी पढ़ें: दिल्‍ली-NCR में तेज हवाओं के साथ बारिश,लोगों को जानलेवा प्रदूषण से मिलेगी राहत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 2, 2019, 11:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...