Home /News /nation /

जम्मू और कश्मीर में नागरिकों की हत्या पर असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार से पूछा- क्या LOC के लिए कोई प्लान है?

जम्मू और कश्मीर में नागरिकों की हत्या पर असदुद्दीन ओवैसी ने सरकार से पूछा- क्या LOC के लिए कोई प्लान है?

ओवैसी ने कहा, 'ड्रोन से हथियार आ रहे हैं और हमारा इंटेलिजेंस फेल है. आखिर सरकार किसे बेवकूफ बना रही है.' ANI

ओवैसी ने कहा, 'ड्रोन से हथियार आ रहे हैं और हमारा इंटेलिजेंस फेल है. आखिर सरकार किसे बेवकूफ बना रही है.' ANI

Asaduddin Owaisi on Jammu and Kashmri: ओवैसी ने कहा, 'फॉरेन पॉलिसी को मोदी की पर्सनल पॉलिसी में बदल दिया गया, जिसकी वजह से हमें नुकसान हुआ.'

    नई दिल्ली. जम्मू और कश्मीर में आम लोगों की हत्या पर ऑल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने केंद्र सरकार को कटघरे में खड़ा किया है. उन्होंने सरकार पर आरोप लगाया है कि विदेश नीति को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ‘पर्सनल पॉलिसी’ में तब्दील कर दिया गया जिसकी वजह से भारत को नुकसान हुआ. केंद्र शासित प्रदेश में हो रही हत्याओं पर ओवैसी ने कहा, ‘सरकार ने पाकिस्तान के साथ एलओसी पर सीजफायर को स्वीकार कर लिया. उन्होंने ऐसा क्यों किया?’ ओवैसी ने सवाल करते हुए कहा कि ‘अब एनएसए से क्या बात करेंगे?’ लोकसभा सांसद ओवैसी ने आगे कहा कि क्या केंद्र सरकार पर पाकिस्तान से सटी एलओसी सीमा के लिए कोई प्लान है?’ उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि ‘जैसा अमेरिका से प्रेशर पड़ता है, सरकार वैसा करती है.’

    ओवैसी ने कहा, ‘ड्रोन से हथियार आ रहे हैं और हमारा इंटेलिजेंस फेल है. आखिर सरकार किसे बेवकूफ बना रही है.’ उन्होंने कहा, ‘हम सरकार से पूछ रहे हैं कि क्या आपके पास कोई नीति है? फॉरेन पॉलिसी को मोदी की पर्सनल पॉलिसी में बदल दिया गया, जिसकी वजह से हमें नुकसान हुआ.’

    राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने उठाए सवाल
    उधर इन हमलों पर पूर्व में जम्मू और कश्मीर के उपराज्यपाल रहे मेघालय के गवर्नर सत्यपाल मलिक ने भी सरकार पर सवाल खड़े किए हैं. उन्होंने दावा किया – ‘जब मैं जम्मू कश्मीर का राज्यपाल था, तब श्रीनगर के 50 किलोमीटर के दायरे में आतंकी घुसने की हिम्मत नहीं कर रहे थे. अब वो चुन चुन कर मार रहे हैं.’

    बता दें कि दक्षिण कश्मीर के कुलगाम में रविवार को आतंकवादियों ने बिहार के दो मजदूरों की उनके किराए के मकान में घुसकर गोली मारकर हत्या कर दी और एक अन्य को घायल कर दिया. जम्मू कश्मीर में 24 घंटे से भी कम समय में गैर-स्थानीय मजदूरों पर यह तीसरा हमला है. बिहार के एक रेहड़ी-पटरी वाले और उत्तर प्रदेश के एक बढ़ई की शनिवार शाम को आतंकवादियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. इस महीने अब तक नागरिकों को निशाना बनाकर की गई गोलीबारी में 11 लोगों की मौत हो चुकी है.

    उपराज्यपाल मनोज सिन्हा बोले- बूंद-बूंद का बदला लेंगे
    उधर, नागरिकों की हत्याओं के बीच, जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने आतंकवादियों और उनके समर्थकों को निशाना बनाकर, मारे गए लोगों के खून की एक-एक बूंद का बदला लेने की प्रतिबद्धता जतायी. सिन्हा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर की शांति और सामाजिक-आर्थिक प्रगति और लोगों के व्यक्तिगत विकास को बाधित करने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने केंद्र शासित प्रदेश के तेजी से विकास के लिए प्रतिबद्धता दोहराई.

    सिन्हा ने अपने मासिक रेडियो कार्यक्रम ‘आवाम की आवाज’ में कहा, ‘मैं शहीद नागरिकों को अपनी श्रद्धांजलि देता हूं और शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करता हूं. हम आतंकवादियों, उनके हमदर्दों को निशाना बनायेंगे और निर्दोष नागरिकों के खून की हर बूंद का बदला लेंगे.’

    Tags: Asaduddin owaisi, Jammu kashmir, Kashmir news, Manoj Sinha, Satyapal malik

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर