लाइव टीवी

अयोध्या मामले के निर्णय से कानून के शासन पर भरोसा मजबूत होगा: ओवैसी

भाषा
Updated: October 21, 2019, 8:04 PM IST
अयोध्या मामले के निर्णय से कानून के शासन पर भरोसा मजबूत होगा: ओवैसी
असदुद्दीन ओवैसी ने बाबरी मस्जिद को लेकर ट्वीट किया है (फाइल फोटो)

एआईएमआईएम अध्यक्ष (AIMIM President) असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने अपने ट्वीट में लिखा है, "भारत में एक पूरी पीढ़ी बाबरी (Babri) पर कब्जे/विध्वंस के साये में पली-बढ़ी है और न्याय की मर्यादा को स्थापित करने वाले निर्णय से कानून के शासन पर भरोसा मजबूत होगा."

  • Share this:
हैदराबाद. एआईएमआईएम अध्यक्ष (AIMIM President) असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने सोमवार को कहा कि अयोध्या (Ayodhya) मुद्दे पर न्याय की मर्यादा को स्थापित करने वाले निर्णय से कानून के शासन पर भरोसा मजबूत होगा तथा यह उन लोगों के लिए अंकुश का काम करेगा जो ‘‘बहुसंख्यकों के नियम’’ को लागू करने के लिए विकृति लाना चाहते हैं.

उन्होंने ट्वीट किया, “भारत में एक पूरी पीढ़ी बाबरी (Babri) पर कब्जे/विध्वंस के साये में पली-बढ़ी है तथा न्याय की मर्यादा को स्थापित करने वाले निर्णय से कानून के शासन (Rule of Law) पर भरोसा मजबूत होगा एवं यह उन लोगों के लिए अंकुश का काम करेगा जो ‘‘बहुसंख्यकों के नियम’’ (Rule of Majority) को लागू करने के लिए विकृति लाना चाहते हैं.”

असदुद्दीन ओवैसी ने यह ट्वीट किया है (स्क्रीनग्रैब)


सर्वोच्च न्यायालय से संविधान में स्थापित मूल्यों का अनुसर करने का किया अनुरोध

हैदराबाद (Hyderabad) से लोकसभा सदस्य ओवैसी उन खबरों के संदर्भ में बोल रहे थे जिनमें विवादित स्थल पर मस्जिद की पैरोकारी कर रहे पक्ष ने सर्वोच्च न्यायालय (Supreme Court) से अनुरोध किया है कि वह संविधान में स्थापित मूल्यों का अनुसरण करे क्योंकि इसका प्रभाव पीढ़ियां महसूस करेंगी.

सर्वोच्च न्यायालय ने सोमवार को उप्र सुन्नी वक्फ बोर्ड समेत मुस्लिम पक्षकारों को इस बात की अनुमति दे दी थी कि वे दशकों पुराने राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद (Ram Janmabhoomi-Babri Masjid land dispute) मामले में लिखित नोट दें. इसे दाखिल करते हुए उन्होंने कहा कि इस फैसले के देश के भविष्य पर प्रभाव डालने वाले “परिणाम” होंगे.

यह भी पढे़ं: अयोध्या: SC ने मुस्लिम पक्षकारों के इस बयान को रिकॉर्ड पर लाने की इजाजत दी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 21, 2019, 8:04 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...