लोकसभा में ओवैसी बोले- इस्‍लाम में शादी कांन्‍ट्रैक्‍ट, इसे जन्‍मों का बंधन न बनाएं

ओवैसी ने कहा, 'इस बिल में तीन तलाक को अपराध बना दिया है. कोर्ट ने समलैंगिकता को गैर आपराधिक बना दिया है, ऐसे में आप तीन तलाक को अपराध बनाकर नया हिंदुस्तान बनाने जा रहे हैं.'

News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 5:57 PM IST
लोकसभा में ओवैसी बोले- इस्‍लाम में शादी कांन्‍ट्रैक्‍ट, इसे जन्‍मों का बंधन न बनाएं
ओवैसी तीन तलाक बिल के खिलाफ शादी को बताया सिर्फ कॉन्ट्रेक्ट
News18Hindi
Updated: July 25, 2019, 5:57 PM IST

तीन तलाक पर एआईएमआईएम के सांसद असदु्द्दीन ओवैसी ने कहा कि यह बिल मुस्लिम महिलाओं के पक्ष में नहीं है. यह कानून मुस्लिम महिलाओं के पर जुर्म करेगा. इस्‍लाम में 9 तरह के तलाक होते हैं. इस कानून के अनुसार अगर आप शौहर को गिरफ्तार करेंगे तो खातून को मेंटेनेंस कौन देगा. शौहर जेल में बैठकर मेंटेनेंस कैसे देगा?


ओवैसी ने कहा, 'इस बिल में तीन तलाक को अपराध बना दिया है. कोर्ट ने समलैंगिकता को गैर आपराधिक बना दिया है, ऐसे में आप तीन तलाक को अपराध बनाकर नया हिंदुस्तान बनाने जा रहे हैं.' उन्‍होंने कहा कि तीन तलाक अगर गलती से कहा जाए तो शादी नहीं टूटती और यही सुप्रीम कोर्ट भी कह रहा है. इस कानून के जरिये सरकार मुस्लिम औरतों पर जुर्म कर रही है.

लोकसभा में ओवैसी ने कहा कि पति की गिरफ्तारी के बाद क्‍या कोई शौहर पत्‍नी को मुआवजा दे पाएगा. अगर पति जेल चला जाएगा तो क्‍या औरत तीन साल तक उसका इंतजार करती रहे. उस औरत को शादी से निकलने का हक मिलना चाहिए.

सरकार शादी खत्‍म कर रही

ओवैसी ने कहा कि बेल देने का हक केवल कोर्ट को है. लेकिन हत्‍या में भी पीड़ित को नहीं सुना जाता है. तीन तलाक बिल लाकर सरकार शादी खत्‍म कर रही है और औरत को सड़क पर ला रही है. मुस्लिमों को तहजीब से दूर करने के लिए यह बिल लाया गया है.

ये भी पढ़ें: PM मोदी के इस अंदाज से हैरान हुए TMC के सांसद!

ओवैसी ने कहा कि इस्‍लाम में शादी जन्‍म-जन्‍म का साथ नहीं होता है. केवल एक कांन्‍ट्रैक्‍ट होता है. एक जिंदगी के लिए. हम उसमें खुश हैं. इसकी तकलीफ सबको मालूम है. तभी सदन में बैठे सभी लोग हंस रहे हैं.
Loading...

ये भी पढ़ें: आजम ने महिला स्पीकर पर किया पर्सनल कमेंट, हंगामा हुआ
First published: July 25, 2019, 5:00 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...