ओवैसी ने लोकसभा में फाड़ी नागरिकता संशोधन बिल की कॉपी, बोले- इससे देश को खतरा

ओवैसी ने लोकसभा में फाड़ी नागरिकता संशोधन बिल की कॉपी, बोले- इससे देश को खतरा
AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध किया है (फाइल फोटो)

AIMIM सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने लोकसभा में सिटीजनशिप अमेंडमेंड बिल, 2019 (Citizenship Amendment Bill, 2019) पर चर्चा में भाग लिया. इस दौरान उन्होंने नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2019, 10:31 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एआईएमआईएम (AIMIM) सांसद असदुद्दीन ओवैसी (Asaduddin Owaisi) ने लोकसभा (Loksabha) में सिटीजनशिप अमेंडमेंड बिल, 2019 (Citizenship Amendment Bill, 2019) पर चर्चा में भाग लिया. इस दौरान उन्होंने नागरिकता संशोधन बिल का विरोध किया है. असदुद्दीन ओवैसी ने बिल का विरोध करते हुए कहा, 'चीन के बारे में सरकार क्यों नहीं बोलती. नागरिकता बिल हिटलर के कानून से भी बदतर है. एक और बंटवारा होने जा रहा है. नागरिकता बिल से देश को खतरा है.'

नागरिकता संशोधन विधेयक (Citizenship (Amendment) Bill 2019) के तहत पाकिस्तान (Pakistan), बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धार्मिक उत्पीड़न के शिकार गैर मुस्लिम शरणार्थियों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है.

AIMIM प्रमुख ने फाड़ दी विधेयक की कॉपी
AIMIM के प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने सोमवार को लोकसभा में नागरिकता संशोधन विधेयक का विरोध करते हुए इस विधेयक की कॉपी फाड़ दी. इसका कड़ा विरोध करते हुए केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि यह संसद का अपमान है.
विधेयक पर चर्चा में भाग लेते हुए ओवैसी ने आरोप लगाया कि यह सरकार मुसलमानों के ‘राष्ट्रविहीन’ बनाने की साजिश कर रही है. उन्होंने यह दावा भी किया कि यह विधेयक एक बार फिर से देश के बंटवारे का रास्ता तैयार करेगा.



'संविधान की मूल भावना के खिलाफ है यह विधेयक'
ओवैसी यह आरोप लगाया कि यह विधेयक संविधान की मूल भावना के खिलाफ है. उन्होंने यह भी कहा कि महात्मा गांधी ने नागरिकता कार्ड को फाड़ा था और मैं आज इस विधेयक को फाड़ता हूं. इसके बाद उन्होंने विधेयक की प्रति फाड़ दी.

इस पर कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि ओवैसी वरिष्ठ सदस्य हैं और उन्होंने जो किया है वो सदन का अपमान है. भाजपा सदस्य पीपी चौधरी ने कहा कि ओवैसी ने संसद का अपमान किया है.

यह भी पढ़ें: लोकसभा में मनीष तिवारी बोले- नागरिकता विधेयक संविधान की मूल भावना के खिलाफ
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading