होम /न्यूज /राष्ट्र /डॉक्टरों ने रचा इतिहास, नानी के गर्भ में पला बच्चा और मां ने दिया जन्म

डॉक्टरों ने रचा इतिहास, नानी के गर्भ में पला बच्चा और मां ने दिया जन्म

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

डॉक्टरों ने बताया कि दुनिया में अब तक गर्भाशय प्रत्यारोपण करके 11 बच्चों को जन्म दिया गया है.

    गुजरात की महिला ने गर्भाशय प्रत्यारोपण के जरिये बच्चे को जन्म देकर पूरे एशिया में रिकॉर्ड कायम किया है. देश में पहली बार गर्भाशय प्रत्यारोपण करके डॉक्टरों ने भी इतिहास रचा है. गर्भ ट्रांसप्लांट के जरिए बच्चे को जन्म देने का एशिया भर में यह पहला मामला है. महिला की 52 वर्षीय मां ने उसे अपना गर्भाशय दान दिया था, जिसके बाद उसने एक बच्ची को जन्म दिया.

    पुणे के गैलेक्सी केअर अस्पताल के डॉक्टर शैलेश पुणतांबेकर और उनकी टीम के अथक प्रयासों से यह चिकित्सीय चमत्कार हुआ है. डॉक्टरों के अनुसार बुधवार को 12:12 बजे महिला ने बच्ची को जन्म दिया. डॉक्टरों ने बताया कि प्रसव पीड़ा के दौरान बीपी बढ़ने के कारण महिला ने सेजेरियन प्रसूती द्वारा बच्ची को जन्म दिया.

    ये भी पढ़ें: भारत में 2005 से 2015 के बीच सिजेरियन डिलीवरी के मामले लगभग दोगुने हुए

    डॉक्टरों ने बताया कि दुनिया में अब तक गर्भाशय प्रत्यारोपण करके 11 बच्चों को जन्म दिया गया है, पुणे में जन्मा यह 12वां बच्चा है. मां और बेटी दोनों स्वस्थ्य और सुरक्षित हैं. लेकिन अभी तक उन्हें अस्पताल में ही रखा गया है. बच्ची का वजन 1450 ग्राम है. मां द्वारा दिया गया गर्भाशय अच्छे से काम कर रहा है.

    ये भी पढ़ें: दिल्ली के अस्पताल में 19 दिन की बच्ची की हुई ओपन हार्ट सर्जरी, मिली नई जिंदगी

    Tags: Baby Care, Doctor, Gujarat, India, Pune, Women

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें