Assembly Banner 2021

मेरा नाम नरेंद्र मोदी नहीं है, जो सातों दिन 24 घंटे झूठ बोलते हैं: असम में राहुल गांधी

नलबाड़ी जिले के बरखेत्री निर्वाचन क्षेत्र में बुधवार को राहुल गांधी ने चुनावी सभा को संबोधित किया. @RahulGandhi

नलबाड़ी जिले के बरखेत्री निर्वाचन क्षेत्र में बुधवार को राहुल गांधी ने चुनावी सभा को संबोधित किया. @RahulGandhi

Assam Assembly Election 2021: राहुल गांधी ने दावा किया कि कांग्रेस ने चाय बागान में काम करने वालों, युवाओं और महिलाओं से बातचीत के बाद चुनावी वादे के तौर पर पांच तरह की गारंटी दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 31, 2021, 6:59 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बीजेपी पर जुबानी हमला करते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने बुधवार को कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह नहीं हैं जो '' हफ्ते के सातों दिन 24 घंटे झूठ बोलते हैं.'' गांधी ने असम के कामरूप जिले में चायगांव निर्वाचन क्षेत्र में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए लोगों से आग्रह किया कि अगर वे सच जानना चाहते हैं तो उनकी बात सुने. उन्होंने कहा, “मैं यहां आपसे झूठ बोलने नहीं आया हूं. मेरा नाम नरेंद्र मोदी नहीं है. अगर आप असम, किसानों या अन्य किसी मुद्दे पर उनके द्वारा बोले गए झूठ को सुनना चाहते हैं तो टीवी चालू करें. वह भारत से हफ्ते के सातों दिन 24 घंटे झूठ बोलते हैं. अगर आप सच सुनना चाहते हैं तो मेरी बात सुनें.”

उन्होंने कहा कि वादे के मुताबिक कांग्रेस ने छतीसगढ़ में सत्ता प्राप्त करने के छह घंटे के भीतर किसानों के कर्ज को माफ कर दिया था और पूर्ववर्ती संप्रग सरकार ने किसानों के अनुरोध पर 70 हजार करोड़ रुपये के कृषि कर्ज माफ कर दिए थे. गांधी ने कहा, “विभिन्न भाषाओं, समुदायों और विचारधारा के लोग शांति से मेरी बात सुन रहे हैं. यह असम है. लेकिन बीजेपी एक भाई को दूसरे से लड़वाती है और घृणा फैलाती है. वे चाय बागान के ठेके बाहरी लोगों को देते हैं.” उन्होंने कहा, “जब कांग्रेस सत्ता में आएगी तो असम अपना मुख्यमंत्री चुनेगा. प्रदेश नागपुर (आरएसएस मुख्यालय) या दिल्ली से शासित नहीं होगा.”

गांधी ने दावा किया कि कांग्रेस ने चाय बागान में काम करने वालों, युवाओं और महिलाओं से बातचीत के बाद चुनावी वादे के तौर पर पांच तरह की गारंटी दी है. उन्होंने कहा, “लोग चाहते हैं कि संशोधित नागरिकता कानून लागू न हो, युवाओं को रोजगार मिले, चाय के बागान में काम करने वालों का वेतन बढ़ाकर 365 रुपये किया जाए, हर घर को 200 यूनिट मुफ्त बिजली दी जाए और गृहणियों को दो हजार रुपये की वित्तीय सहायता दी जाए. हमने आपकी मांगों को स्वीकार किया है. हमारा मुख्यमंत्री इन्हें पूरा करेगा.”



नलबाड़ी जिले के बरखेत्री निर्वाचन क्षेत्र में एक अन्य चुनावी रैली में गांधी ने कहा कि मोदी ने नोटबंदी और जीएसटी और अन्य प्रकार के कर लगाकर विशेष रूप से असम में रोजगार के अवसर खत्म कर दिए हैं. गांधी ने कहा, “मोदी ने रोजगार के सभी अवसर खत्म कर दिए हैं और आपके हवाई अड्डे, चाय के बागान यहां तक तेल के कुएं भी अपने दो-तीन उद्योगपति मित्रों को दे दिये हैं.”

असम में 39 सीटों के लिए दूसरे चरण का मतदान बृहस्पतिवार को होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज