Assam Vidhan Sabha Chunav Result: बीजेपी ने पकड़ी रफ्तार, सीएम सोनोवाल और हेमंत शर्मा आगे; रिपुन बोरा पिछड़े

मजौली सीट से आगे चल रहे हैं सीएम सर्बानंद सोनोवाल. (फोटो: ANI/Twitter)

मजौली सीट से आगे चल रहे हैं सीएम सर्बानंद सोनोवाल. (फोटो: ANI/Twitter)

Assam Assembly Election Result Live: असम में कोरोना प्रोटोकॉल के साथ मतगणना शुरू हो चुकी है. कहा जा रहा है कि राज्य में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस (Congress) के नेतृत्व वाले गठबंधन के बीच कड़ा मुकाबला हो सकता है.

  • Share this:
दिसपुर. असम में विधानसभा चुनाव 2021 (Assembly Elections 2021) की मतगणना प्रक्रिया का आगाज हो चुका है. राज्य में फिलहाल सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी मजबूत स्थिति में नजर आ रही है. हालांकि, कांग्रेस ने भी अपने प्रदर्शन में मामली सुधार किया है. भारत के उत्तर पूर्व क्षेत्र में स्थित इस राज्य में 126 सीटों पर सियासी रण जारी है. राज्य में 3 चरणों में मतदान प्रक्रिया पूरी हुई थी. कहा जा रहा है कि राज्य में सबसे बड़ा मुकाबला भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस (Congress) के नेतृत्व वाले गठबंधन के बीच है.

असम में बीजेपी ने क्षेत्रीय असम गण परिषद और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल के साथ 'मित्रजोत' गठबंधन किया है. वहीं, कांग्रेस ने ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक फ्रंट, बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट, वाम दलों, आंचलिक गण मोर्चा और राष्ट्रीय जनता दल के साथ मिलकर 'महाजोत' गठबंधन तैयार किया है. इस बार चार राज्य- असम, केरल, पश्चिम बंगाल और तमिलनाडु और एक केंद्र शासित प्रदेश- पुडुचेरी के चुनाव नतीजों पर सबकी नजर टिकी हुई है.

असम विधानसभा चुनाव से जुड़े ताजा अपडेट्स जानिए-
खबर लिखे जाने तक शुरुआती रुझानों के मुताबिक, राज्य में बीजेपी 75 सीटों पर बढ़त बनाए हुए हैं. जबकि, कांग्रेस 48 सीटों पर आगे है. फिलहाल अन्य 3 सीट पर मजबूत नजर आ रही है. राज्य के मुख्यमंत्री सोनोवाल ने सरकार बनाने का दावा किया है. उन्होंने कहा 'शुरुआती रुझानों के अनुसार यह साफ है कि भारतीय जनता पार्टी असम में सरकार बनाएगी.'
मजौली में मुख्यमंत्री सोनोवाल जलुकबारी से हेमंत बिस्वा शर्मा आगे चल रहे हैं. AGP प्रमुख अतुल बोरा ने बोकाखाट से बढ़त हासिल कर रखी है. जबकि, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा पीछे चल रहे हैं.
पहले दौर की मतगणना के बाद पार्टियों के बीच वोट शेयर यह रहा- बीजेपी- 37.6% कांग्रेस- 32.28% बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट- 12.33%
असम में अंतिम चरण के मतदान होने के बाद गुरुवार को एग्जिट पोल के नतीजे सामने आए. इन नतीजों में असम में भाजपा के फिर से सत्ता में लौटने का अनुमान लगाया गया गया है.
जानकार बताते हैं कि असम में बदरुद्दीन अजमल भी बड़ी भूमिका निभा सकते हैं. कांग्रेस अजमल की पार्टी ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के साथ चुनावी मैदान में उतरी है. लोअर असम एकमात्र ऐसा क्षेत्र है, जहां कांग्रेस के नेतृत्व वाले मुख्य विपक्षी गठबंधन (या महाजोत) को राज्य में हर चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के नेतृत्व वाले एनडीए से अधिक वोट मिले हैं, चाहे वह विधानसभा हो या लोकसभा चुनाव. लोअर असम में मुस्लिम आबादी बहुत अधिक है, इसके बाद बोडो-कचारी जैसे जातीय समुदाय भी हैं.
राज्य में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को लेकर बीते शनिवार को फिर एक विवाद खड़ा होने की संभावना बनी थी. राज्य के हैलाकंदी स्थित मतगणना केंद्र के पास शनिवार शाम को एक ट्रंक में ईवीएम मिली. हालांकि, बाद में यह साफ हो गया था कि यह रिजर्व्ड मशीन थी और इसमें कोई वोट नहीं डाले गए थे.
राजनीतिक जानकारों का कहना है कि एक ओर बीजेपी को असम में नागरिकता संशोधन कानून यानि सीएए का फायदा मिल सकता है. वहीं, कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा था कि कानून को लागू करने की देरी के चलते पार्टी को नुकसान भी उठाना पड़ सकता है.
इस विधानसभा चुनाव में, बोडोलैंड क्षेत्र, मुख्य रूप से उत्तरी असम में ब्रह्मपुत्र नदी के निचले इलाके में स्थित है, जिसमें कोकराझार, चिरांग, दारंग, बोंगाईगांव, बक्सा, नलबाड़ी और उदगुरु शामिल हैं, जो नई सरकार के गठन में निर्णायक भूमिका निभाएंगे.
असम में मतदान प्रक्रिया 27 मार्च, 1 और 6 अप्रैल को तीन चरणों में पूरी हुई थी. आंकड़े बताते हैं कि राज्य में 82.04 प्रतिशत मतदान हुआ था.
असम में कोविड-19 सावधानियों के बीच मतगणना शुरू हो चुकी है. चुनाव आयोग ने 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को तीन चरणों में मतदान करने वाले पूरे राज्य में 331 काउंटिंग हॉल में त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित की है. 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज