असम में क्या सर्बानंद सोनोवाल फिर से बनेंगे CM या हेमंत बिस्व शर्मा को मिलेगा मौका?

असम के साथ-साथ केंद्रीय भाजपा में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा है कि कोई भी बदलाव बातचीत के बाद ही लिया जाएगा

असम के साथ-साथ केंद्रीय भाजपा में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा है कि कोई भी बदलाव बातचीत के बाद ही लिया जाएगा

Assam Assembly Election 2021: सीएम पद को लेकर सर्बानंद सोनोवाल और हेमंत बिस्व शर्मा दोनों ने ही अपने पत्ते नहीं खोले हैं. इनका कहना है कि सीएम पद को लेकर कोई खींचतान नहीं है और मीडिया ही ये अनुमान लगा रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. असम विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election 2021) में एक बार फिर से बीजेपी को शानदार जीत मिल गई है. बीजेपी को 75 सीटों पर जीत मिली है, लेकिन इतनी बड़ी जीत के बावजूद भी इस बात की गारंटी नहीं है कि सर्बानंद सोनोवाल (Sarbananda Sonowal) ही सीएम बनेंगे. दरअसल इस बात की अटकलें लगाई जा रही हैं कि स्वास्थ एवं वित्त मंत्री का जिम्मा संभाल रहे डॉ. हेमंत बिस्व शर्मा को भी सीएम बनाया जा सकता है. साल 2014 से लेकर अब तक सरमा की ताकत काफी ज्यादा बढ़ी है.

अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स के मुताबिक सर्बानंद सोनोवाल को केंद्र में कोई जिम्मेदारी दी जा सकती है, जबकि हिमंता विश्व सरमा को असम का नया मुख्यमंत्री बनाया जा सकता है. बीजेपी के उपाध्यक्ष और असम के प्रभारी जय पांडा के मुताबिक, संसदीय बोर्ड की बैठक के बाद ही सीएम का फैसला किया जाएगा. उन्होंने ये भी कहा कि जल्द ही केंद्रीय पर्यवेक्षकों को भेजा जाएगा और विधायक दल की बैठक होगी.

Youtube Video


किसको मिले मौक?
असम के साथ-साथ केंद्रीय भाजपा में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं ने कहा है कि कोई भी बदलाव बातचीत के बाद ही लिया जाएगा. बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान सोनोवाल को सीएम उम्मीदवार नहीं बनाया गया था. हालांकि भाजपा नेताओं ने कहा था कि पार्टी उनके नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी. इस बीच सीएम पद को लेकर सर्बानंद सोनोवाल और हेमंत बिस्व शर्मा दोनों ने ही अपने पत्ते नहीं खोले हैं. इनका कहना है कि सीएम पद को लेकर कोई खींचतान नहीं है और ये मीडिया ही अनुमान लगा रही है.







सोनोवाल की दावेदारी

बता दें कि सोनोवाल असम में बेहद लोकप्रिय हैं और उन्हें एक साफ छवि का नेता माना जाता है. नागरिकता संशोधन अधिनियम (CAA) को लेकर लोगों में खासा गुस्सा था, लेकिन कहा जा रहा है कि उन्होंने यहां के लोगों को शांत कराने में काफी अहम भूमिका निभाई. हालांकि असम में पार्टी का एक वर्ग चाहता है कि हेमंत बिस्व शर्मा को सीएम को जिम्मेदारी दी जाए. अगले एक दो दिनों में सीएम के नाम पर फैसला हो सकता है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज