जेपी नड्डा बोले- CAA सही वक्त पर होगा लागू, जनता को मूर्ख बना रही कांग्रेस

जेपी नड्डा ने गुवाहाटी में असम चुनाव के लिए बीजेपी का घोषणापत्र जारी किया (PTI)

जेपी नड्डा ने गुवाहाटी में असम चुनाव के लिए बीजेपी का घोषणापत्र जारी किया (PTI)

संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के तहत 31 दिसंबर 2014 तक अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 23, 2021, 7:29 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. असम में विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Elections 2021) के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने मंगलवार को घोषणापत्र जारी किया. पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) की मौजूदगी में 10 संकल्पों वाला घोषणापत्र जारी किया गया है. इस दौरान नड्डा ने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून (CAA) संसद में पारित हो चुका है. इसे सही समय पर लागू किया जाएगा. नड्डा ने कहा कि यह असल में केंद्र का कानून है. इसे राज्य में लागू न करने देने के कांग्रेस के दावे की वजह या तो उनकी अज्ञानता है या वे लोगों को मूर्ख बनाने की कोशिश कर रहे हैं. हालांकि, बीजेपी के घोषणापत्र में नागरिकता कानून का कोई जिक्र नहीं है.

बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, 'मैं कांग्रेस क्या सोच रही है इसको लेकर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता, लेकिन उनका दृष्टिकोण न केवल समस्या उत्पन्न करने वाला है, बल्कि राज्य के लिए खतरनाक भी है.’ बता दें कि संशोधित नागरिकता कानून के तहत 31 दिसंबर 2014 तक अफगानिस्तान, बांग्लादेश और पाकिस्तान से धार्मिक प्रताड़ना के कारण भारत आए हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी और ईसाई समुदायों के लोगों को भारतीय नागरिकता देने का प्रावधान है.

Youtube Video


तमिलनाडु चुनाव: सत्ता के लिटमस टेस्ट में पलानीस्वामी पास होंगे या फेल?
बदरुद्दीन अजमल को लेकर कांग्रेस को घेरा

जेपी नड्डा ने कहा, 'असम की पहचान वैष्णव संत श्रीमंत शंकरदेव, भारत रत्न डॉ. भूपेन हजारिका और गोपीनाथ बोरदोलोई से जुड़ी हुई है. अब क्या हम इसे बदरुद्दीन अजमल के साथ जोड़ने की अनुमति दे सकते हैं?’ बता दें कि अजमल एआईयूडीएफ के प्रमुख हैं, जिनकी पार्टी के साथ कांग्रेस ने राज्य में विधानसभा चुनाव लड़ने के लिए गठबंधन किया है.

'बीजेपी संस्कृति संरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध



बीजेपी अध्यक्ष ने कहा, 'बीजेपी की पहचान और संस्कृति संरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है. इसके लिए सांस्कृतिक परिवर्तन की प्राकृतिक प्रक्रिया बरकरार रखी गई है.' बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने घुसपैठ के मामले का जिक्र करते हुए कहा कि पार्टी अंतरराष्ट्रीय सीमा को मजबूत करने और वैज्ञानिक रूप से उसका प्रबंधन करने को प्रतिबद्ध है.

घोषणापत्र में किए गए ये वादें?

घोषणापत्र लॉन्च करते हुए नड्डा ने कहा कि पिछले 5 वर्षों में हमारा उद्देश्य जाति, माटी और बेटी को सशक्त करना रहा है. संस्कृति की रक्षा, असम की सुरक्षा और समृद्धि के लिए हम प्रतिबद्ध रहे हैं और इसे लेकर हम चले हैं.

पश्चिम बंगाल चुनाव 2021 में ताकत आजमाएगी AIMIM, सीटों पर फैसला जल्द: असदुद्दीन ओवैसी

नड्डा ने असम की जनता से दो लाख सरकारी नौकरियां, एक लाख प्राइवेट सेक्टर में नौकरियों का वादा किया. इसके साथ ही उन्होंने एनआरसी को लेकर भी उन्होंने जनता को आश्वासन दिया कि एनआरसी लागू करने में असम का ध्यान रखा जाएगा. जेपी नड्डा ने असम में वास्तविक भारतीय नागरिकों की सुरक्षा और घुसपैठ पर अंकुश लगाने का वादा किया.


जेपी नड्डा ने कहा, 'असम को आत्मनिर्भर बनाने के लिए, हम शुरू करेंगे असम आत्मनिर्भर भारत इसके लिए हम माइक्रो और मैक्रो स्तर पर योजना बनाएंगे और इसे कई क्षेत्रों में आगे ले जाएंगे.' इस दौरान बीजेपी चीफ जेपी नड्डा के साथ केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर और असम के सीएम सर्बानंद सोनोवाल भी मौजूद रहे. (एजेंसी इनपुट के साथ)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज