लाइव टीवी
Elec-widget

असम: आखिरकार मर गया 'बिन लादेन', अब तक 50 लोगों की ले चुका था जान

News18Hindi
Updated: November 18, 2019, 10:59 AM IST
असम: आखिरकार मर गया 'बिन लादेन', अब तक 50 लोगों की ले चुका था जान
'लादेन' इतना क्रूर हो गया था कि उसे उसे पटाखों और आग का भी खौफ नहीं था.

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 35 साल के इस हाथी बिन लादेन (Bin Laden) को 11 नवंबर को पकड़ा गया था. 12 नवंबर को इसे ओरांग नेशनल पार्क लाया गया था. रविवार सुबह 5:30 बजे उसकी मौत हो गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 18, 2019, 10:59 AM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. ओसामा बिन लादेन (Osama Bin Laden) का नाम आते ही लोगों के ज़ेहन में अमेरिका पर हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले 9/11 की यादें ताज़ा हो जाती हैं. हालांकि एक 'लादेन' ने असम के गोलपारा ज़िले में भी कुछ दिनों से आतंक मचा रखा था, लेकिन रविवार को इसकी मौत हो गई. दरअसल, ये कोई आतंकवादी नहीं, बल्कि एक पागल हाथी था. पागल हाथी अब तक 50 से ज्यादा लोगों को अपने पैरों के नीचे कुचल चुका था.

वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि 35 साल के इस हाथी को 11 नवंबर को पकड़ा गया था. 12 नवंबर को इसे ओरांग नेशनल पार्क लाया गया था. रविवार सुबह 5:30 बजे उसकी मौत हो गई. इस हाथी को कृष्णा भी नाम दिया गया था.

असम सरकार ने ओरांग नेशनल पार्क से हाथी को लाने के लिए एक टीम भेजी है. वेटनरी डॉक्टर इस हाथी का पोस्टमार्टम करेंगे, ताकि ये पता चल सके कि उसकी मौत किस वजह से हुई है.

बता दें कि गोलपारा ज़िले के दुधनोई इलाके में 'लादेन' हाथी ने पिछले कुछ महीनों में कई लोगों की जान ली है. इस पागल हाथी ने कई लोगों के घरों को तोड़ा है, साथ ही फसलों को भारी नुकसान पहुंचाया है. 'लादेन' इतना क्रूर हो गया था कि उसे उसे पटाखों और आग का भी खौफ नहीं था.

इलाके के लोगों का कहना है कि इस पागल हाथी के आतंक के चलते वन विभाग के लोग भी इससे डरते थे. लोगों का आरोप था कि वन विभाग के लोग उनकी मदद नहीं करते.

असम में 'लादेन' का कहर, ले चुका है 30 लोगों की जान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 9:17 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...