• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • ASSAM CHIEF MINISTER SARBANANDA SONOWAL AND HIMANTA BISWA SARMA MEET JP NADDA AMIT SHAH IN DELHI

दिल्ली में जेपी नड्डा, अमित शाह से मिले सोनोवाल और सरमा, विधायक दल की बैठक कल संभव

सर्बानंद सोनोवाल और हिमंत बिस्व सरमा ने पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की. (फाइल फोटो)

Assam Chief Minister: भाजपा ने 126 सदस्यीय असम विधानसभा में 60 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि उसकी गठबंधन सहयोगी असम गण परिषद से नौ और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल ने छह सीटें जीतीं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. असम के नए मुख्यमंत्री (Assam's CM) को लेकर लगाई जा रही अटकलों के बीच, राज्य में भाजपा के वरिष्ठ नेताओं सर्बानंद सोनोवाल (Sarbanand Sonowal) और हिमंत बिस्व सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) से यहां शनिवार को मुलाकात की. एक के बाद एक कर कई बैठकों के बाद सरमा ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा के असम विधायक दल की बैठक गुवाहाटी में रविवार को होने की संभावना है और अगली सरकार से संबंधित सारे सवालों के वहां जवाब दिये जाएंगे.

    भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने असम में अगली सरकार के नेतृत्व को लेकर चर्चा करने के लिए शुक्रवार को असम के निवर्तमान मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल एवं स्वास्थ्य मंत्री हिमंत बिस्व सरमा को दिल्ली बुलाया था. नड्डा के निवास पर असम के दोनों नेताओं , शाह और भाजपा महासचिव (संगठन) बी एल संतोष और पार्टी अध्यक्ष के बीच तीन दौर की बैठकें हुई हैं. ये बैठकें चार घंटे से अधिक समय तक चलीं.

    ये भी पढ़ें- विशेषज्ञों का दावा: UP में पीक से नीचे आया कोरोना, एक सप्ताह में 18.8 प्रतिशत

    पहले दो दौर की बैठकें हुईं अलग-अलग
    पहले दो दौर की बैठकों में भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने असम के दोनों नेताओं के साथ अलग-अलग बैठक की. तीसरे और अंतिम दौर में भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने दोनों नेताओं से एक-साथ बातचीत की. इन बैठकों में असम में अगली सरकार के गठन और अगले मुख्यमंत्री का विषय मुख्य रूप छाया रहा. सोनोवाल और सरमा नड्डा के निवास पर अलग-अलग पहुंचे लेकिन बैठक के बाद दोनों एक ही कार में साथ निकले.

    असम के सोनोवाल-कछारी आदिवासी समुदाय से संबंध रखने वाले सोनोवाल और उत्तर पूर्व लोकतांत्रिक गठबंधन के संयोजक सरमा मुख्यमंत्री पद के मजबूत दावेदार हैं.

    भाजपा ने असम में चुनाव से पहले मुख्यमंत्री पद के अपने उम्मीदवार की घोषणा नहीं की थी. उसने 2016 विधानसभा चुनाव में सोनोवाल को इस पद के उम्मीदवार के रूप में पेश किया था और चुनाव जीता था. इसी के साथ पूर्वोत्तर में भगवा दल की पहली सरकार गठित हुई थी.

    ये भी पढे़ें- '180 जिले में 7 दिनों में नया केस नहीं, देश में बढ़ रही है कोरोना मरीजों की रिकवरी रेट'

    इस बार,पार्टी कहती रही कि वह चुनाव के बाद फैसला करेगी कि असम का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा.

    भाजपा ने 126 सदस्यीय असम विधानसभा में 60 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि उसकी गठबंधन सहयोगी असम गण परिषद से नौ और यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल ने छह सीटें जीतीं.

    (Disclaimer: यह खबर सीधे सिंडीकेट फीड से पब्लिश हुई है. इसे News18Hindi टीम ने संपादित नहीं किया है.)