Assembly Banner 2021

असम चुनाव के लिए कांग्रेस का घोषणा पत्र जारी, फ्री बिजली से लेकर 5 लाख रोजगार तक का वादा

कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र (Photo-ANI)

कांग्रेस ने जारी किया घोषणा पत्र (Photo-ANI)

Assam Assembly Elections 2021: कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में पांच लाख सरकारी नौकरियां देने और सभी को हर महीने 200 यूनिट मुफ्त बिजली देने का भी वादा किया है. इसके अलावा, चाय बागान श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी बढ़ा कर 365 रुपये करने का भी वादा किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 20, 2021, 6:31 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. कांग्रेस के पूर्व अध्‍यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने असम विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election) के लिए शनिवार को अपनी पार्टी का घोषणापत्र जारी करते हुए 'पांच गारंटी' दी. इनमें प्रत्येक गृहिणी को हर महीने 2,000 रुपये देने और संशोधित नागरिकता अधिनियम (सीएए) को निष्प्रभावी करने के लिए कानून लाना शामिल है. पार्टी का घोषणापत्र जारी करते हुए राहुल ने कहा कि उनकी पार्टी असम के विचार (आईडिया) की हिफाजत करेगी, जिस पर भाजपा और आरएसएस (राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ) हमले कर रही है.

राहुल गांधी ने कहा, 'हालांकि, इस दस्तावेज में कांग्रेस का निशान (चुनाव चिह्न) है, लेकिन असल में यह लोगों का घोषणापत्र है. इसमें असम के लोगों की आकांक्षाएं समाहित हैं.' कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में पांच लाख सरकारी नौकरियां देने और सभी को हर महीने 200 यूनिट मुफ्त बिजली देने का भी वादा किया है. इसके अलावा, चाय बागान श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी बढ़ा कर 365 रुपये करने का भी वादा किया गया है. राहुल ने कहा कि कांग्रेस असम के उस विचार की हिफाजत करने का वादा करती है, जिसमें संस्कृति, भाषा, परंपरा, इतिहास और सोचने का तरीका समाहित है.

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने संवाददाताओं से कहा, 'यह हमारा वादा है. आप जानते हैं कि भाजपा और आरएसएस भारत तथा असम की विविधतापूर्ण संस्कृति पर हमले कर रहे हैं. हम इससे रक्षा करेंगे.'



राहुल गांधी ने गैस को लेकर सरकार पर साधा निशाना
इससे पहले, राहुल गांधी ने असम के जोरहाट में कहा कि यूपीए की सरकार में गैस सिलेंडर की कीमत 400 रुपये थी, अब एनडीए की सरकार में इसकी कीमत 900 है. इससे किसको फायदा हो रहा है. गरीबों का नहीं, सिर्फ देश के 2-3 उद्योगपतियों का फायदा हो रहा है. उनका टैक्स, लोन सब माफ किया जा रहा है लेकिन आपके लिए कुछ नहीं किया जा रहा है.

राहुल गांधी ने भाजपा पर करारा प्रहार करते हुए आरोप लगाया कि वह असम की संस्कृति, भाषा, इतिहास और भाईचारे पर हमला कर रही है. साथ ही, उन्होंने विधानसभा चुनाव के बाद राज्य में उनकी पार्टी के सत्ता में आने पर नफरत को खत्म करने और शांति लाने का वादा किया. राहुल ने जोरहाट जिले के मरियानी में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आम आदमी के लिए नहीं, बल्कि देश के सिर्फ 2-3 सबसे अमीर उद्योगपतियों के लिए काम कर रहे हैं.

ये भी पढ़ें- भारत-अमेरिका के बीच बढ़ेगी सैन्य भागीदारी, दोनों देशों के बीच हुए बड़े समझौते

राहुल बोले- असम को बाहरी लोगों को सौंपा जा रहा
राहुल ने कहा, ‘‘भाजपा असम की संस्कृति, भाषा, इतिहास और भाईचारे पर हमला कर रही है...लेकिन हम आपकी और आपकी संस्कृति तथा अस्मिता की रक्षा करेंगे, नफरत खत्म करेंगे और शांति लाएंगे. यह आपका राज्य है और इसे नागपुर से नहीं संचालित किया जा सकता.’’

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने असम में सत्तारूढ़ दल भाजपा पर प्रहार करते हुए कहा कि पूरा राज्य बाहरी लोगों को सौंपा जा रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘सरकार ने गुवाहाटी हवाई अड्डा का अधुनिकीकरण करने के लिए 2,000 करोड़ रुपये दिये थे. अब, इसे आपकी जेब से निकाल लिया गया और इसे अडाणी को दे दिया गया. इस तरीके से, वह देश में हर चीज अपने दो-तीन सबसे अमीर कारोबारी मित्रों को दे रही है.’’

राहुल ने आरोप लगाया कि भाजपा अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग वादे करती है, लेकिन उन्हें पूरा नहीं करती.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कभी झूठ नहीं बोलता. देखिए, मैंने छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र, राजस्थान और पंजाब में चुनाव से पहले क्या बोला था. मैंने कहा था कि किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा. छत्तीसगढ़ में (कांग्रेस की) सरकार बनने के छह महीने के अंदर यह कर दिया गया. इसी तरह से, अन्य राज्यों में किये गये हर वादे पूरे किये गये हैं.’’

ये भी पढ़ें- ममता बनर्जी पर जमकर बरसे पीएम मोदी- खड़गपुर रैली की 10 खास बातें

वह मरियानी में कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुरमी के पक्ष में चुनाव प्रचार कर रहे हैं, जहां पहले चरण के चुनाव के तहत 27 मार्च को मतदान होना है.

सीएए को निष्प्रभावी करने का किया वादा
राहुल ने कहा कि यदि राज्य में कांग्रेस की सरकार बनती है, तब संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को निष्प्रभावी करने के लिए एक कानून लाया जाएगा, पांच लाख सरकारी नौकरियां दी जाएंगी, सभी को 200 यूनिट बजिली मुफ्त दी जाएगी, गृहणियों को प्रति माह 2,000 रुपये मिलेंगे और चाय बागान श्रमिकों की न्यूनतम मजदूरी बढ़ा कर 365 रुपये कर दी जाएगी.

उन्होंने कहा, ‘‘आप देश की दशा देख रहे हैं. भाजपा ने नोटबंदी करते हुए कहा था कि यह काला धन के खिलाफ लड़ाई है. लेकिन उसने आपके पैसे छीन लिए और उसे दो-तीन बड़े उद्योगपतियों को दे दिए.’’

कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘इसके बाद जीएसटी (माल एवं सेवा कर) यह वादा कर लागू किया गया कि इससे सभी को फायदा होगा. मोदी इसे पांच अलग श्रेणियों के साथ लेकर आए और अधिकतम दर 28 प्रतिशत है...इन दो फैसलों के चलते हजारों उद्योग बंद हो गए . वह (मोदी) कहते कुछ हैं, लेकिन करते कुछ और हैं.’’

राहुल ने महंगाई का मुद्दा उठाते हुए कहा, ‘‘भाजपा सरकार हम दो, हमारे दो के लिए काम कर रही है, जबकि किसान, छोटे कारोबारी, श्रमिक और अन्य लोग अत्यधिक महंगाई के चलते कष्ट झेल रहे हैं.’’ उन्होंने अपनी पार्टी के चुनावी वादों का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘उन्होंने (मोदी ने) दो-तीन उद्योगपतियों के कर्ज माफ कर दिए, लेकिन उन्होंने आपके लिए कुछ नहीं किया. यहां तक कि उन्होंने तीन नये कृषि कानून लाकर किसानों पर हमला किया. यही कारण है कि हम आपके लिए पांच गारंटी लेकर आए हैं. ’’

उन्होंने कहा कि कांग्रेस यदि सत्ता में आती है तो छोटे एवं मंझोले आकार के कारोबारों को प्रोत्साहन राशि दी जाएगी, ताकि निजी क्षेत्र में भी रोजगार सृजन हो सके.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज