Assam Encounter: असम में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में छह उग्रवादी ढेर

असम में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में छह उग्रवादी ढेर. (सांकेतिक फोटो)

भारतीय सुरक्षाबलों (Indian Security Force) के साथ हुई मुठभेड़ (Encounter) में मारे गए सभी उग्रवादी दिमासा नेशनल लिबरेशन आर्मी (DNLA) से जुड़े हुए थे. मारे गए उग्रवादियों के पास से चार एके-47 राइफल और गोला-बारूद बरामद किया गया है.

  • Share this:
    दीफू.असम-नगालैंड की सीमा (Assam-Nagaland Border) के पास पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिले में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ (Encounter) में रविवार को दिमासा नेशनल लिबरेशन आर्मी (DNLA) के छह उग्रवादी मारे गए. मारे गए उग्रवादियों के पास से चार एके-47 राइफल और गोला-बारूद बरामद किया गया है. सुरक्षाबलों ने अभी भी इलाके को घेर रखा है और सर्च ऑपरेशन जारी है.

    एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि पश्चिम कार्बी आंगलोंग के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रकाश सोनोवाल के नेतृत्व में पुलिस अधिकारियों और असम राइफल्स के जवानों की टीम ने एक खुफिया सूचना के आधार पर जिले में एक संयुक्त अभियान चलाया. अधिकारी ने बताया कि इस दौरान सुरक्षा बलों और उग्रवादियों के बीच हुई मुठभेड़ में प्रतिबंधित संगठन के छह सदस्य मिचिबैलुंग इलाके में मारे गए.

    उन्होंने बताया कि मारे गए उग्रवादियों के पास से चार एके-47 राइफल और गोला-बारूद बरामद किया गया है. उन्होंने बताया कि मिचिबैलुंग में तलाश अभियान अब भी जारी है.

    इसे भी पढ़ें :- नाइजीरिया: बोको हरम के लीडर अबुबकर शेकऊ की हुई मौत, रिपोर्ट में दावा

    उल्फा (आई) ने एक महीने बाद ONGC के कर्मचारी को छोड़ा
    वहीं दूसरी तरफ असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की अपील के बाद प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन उल्फा (आई) ने ओएनजीसी कर्मचारी रितुल सैकिया को शनिवार को रिहा कर दिया था. असम पुलिस मुख्यालय के एक शीर्ष अधिकारी ने बताया कि रितुल सैकिया का बीते 21 अप्रैल को अपहरण किया गया था. असम पुलिस के अनुसार भारत की सीमा में वह 40 मिनट तक पैदल चलकर पहुंचे.