Home /News /nation /

assam floods situation getting worsen in state over 31 lakh people affected 151 died

Assam Floods: बाढ़ से बदतर हुए हालात, अब तक 151 लोगों की मौत, 31 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

असम में बाढ़ और भूस्खलन की वजह से पूरा जनजीवन अस्त-व्यस्त है. (फाइल फोटो)

असम में बाढ़ और भूस्खलन की वजह से पूरा जनजीवन अस्त-व्यस्त है. (फाइल फोटो)

Assam Floods 2022, Landslide, Assam Rainfall: इस समय 26 जिलों में बाढ़ प्रभावित लोगों की संख्या बढ़ कर 31.54 लाख हो गई है जो कल तक 24.92 लाख थी. बेकी, कोपिली, बराक और कुशियारा समेत कई स्थानों पर ब्रह्मपुत्र नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. हालांकि अन्य कई नदियों में जलस्तर कम हो रहा है.

अधिक पढ़ें ...

गुवाहाटी: अधिकारियों ने बताया कि कछार के सिलचर (Silchar) शहर के कई हिस्से 11 दिन से अधिक समय से जलमग्न हैं. राज्य में इस साल बाढ़ और भूस्खलन के चलते जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 151 हो गई है.

गुवाहाटी: असम (Assam) में बाढ़ के हालात और गंभीर हो गये हैं, जहां 31 लाख से अधिक लोग इस प्राकृतिक आपदा से प्रभावित हुए हैं. साथ ही, पिछले 24 घंटे में 12 लोगों की मौत हो गई. अधिकारियों ने बताया कि कछार के सिलचर शहर के कई हिस्से 11 दिन से अधिक समय से जलमग्न हैं. राज्य में इस साल बाढ़ और भूस्खलन के चलते जान गंवाने वाले लोगों की संख्या बढ़कर 151 हो गई है.

इस समय 26 जिलों में बाढ़ प्रभावित लोगों की संख्या बढ़ कर 31.54 लाख हो गई है जो कल तक 24.92 लाख थी. बेकी, कोपिली, बराक और कुशियारा समेत कई स्थानों पर ब्रह्मपुत्र नदी खतरे के निशान से ऊपर बह रही है. हालांकि अन्य कई नदियों में जलस्तर कम हो रहा है.

मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने बृहस्पतिवार को उपायुक्तों के साथ डिजिटल वार्ता की और उनसे प्रभावित लोगों को जल्द से जल्द राहत पहुंचाने और उनका पुनर्वास करने को कहा.

मुख्यमंत्री ने कहा कि हर जिले में नुकसान का आकलन करने के लिए 15 जुलाई की समयसीमा तय की गयी है. इसके बाद 20 जुलाई तक संरक्षक मंत्री और सचिव उन पर मुहर लगाएंगे जिसके बाद प्रभावितों को मुआवजा बांटा जाएगा. पूरी प्रक्रिया 15 अगस्त तक पूरी होने की संभावना है.

Tags: Assam, Assam Flood, Landslide

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर