विधानसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक नहीं है असम के स्वास्थ्यमंत्री हेमंत बिस्व सरमा

विधानसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक नहीं है असम के स्वास्थ्यमंत्री हेमंत बिस्व सरमा
असम और उत्तर पूर्व की राजनीति में हिमंता बिस्व सरमा प्रभावशाली नेता हैं. (फाइल फोटो)

हेमंत बिस्व सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, 'जैसा कि मैंने पहले ही कई सार्वजनिक मंचों पर संकेत दिया है कि मुझे अगला विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election Election 2021) लड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं है

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 26, 2020, 12:23 AM IST
  • Share this:
assam गुवाहाटी. असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत बिस्व सरमा (Himanta Biswa Sarma) ने मंगलवार को कहा कि वह अगले साल होने वाला विधानसभा चुनाव (Assam Assembly Election Election 2021) लड़ने के इच्छुक नहीं थे. सरमा ने कहा, 'चुनाव में मेरी भूमिका अपनी पार्टी के लिए और अपने राज्य के लिए जो कुछ भी कर सकता हूं, उसमें योगदान करने तक सीमित रहेगी.' उन्होंने कहा कि मेरी एकमात्र इच्छा 100 से अधिक सीटों के साथ भाजपा सरकार बनते देखना है.

मंत्री ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, 'जैसा कि मैंने पहले ही कई सार्वजनिक मंचों पर संकेत दिया है कि मुझे अगला विधानसभा चुनाव लड़ने में कोई दिलचस्पी नहीं है, मैं जो भी अपनी पार्टी और राज्य के लिए योगदान दे सकता हूं, मेरी भूमिका वहीं तक सीमित रहेगी.'

सरमा गुवाहाटी के जलुकबरी विधानसभा क्षेत्र से वर्ष 2001 से चार बार के विधायक हैं. उन्होंने भाजपा में आने से पहले कांग्रेस के टिकट पर तीन बार इस सीट का प्रतिनिधित्व किया और 2016 में बीजेपी के टिकट पर भी जीत दर्ज की. असम विधानसभा चुनाव अप्रैल 2021 में होना प्रस्तावित है.



महागठबंधन की कोशिश में कांग्रेस
वहीं राज्य में लंबे समय तक शासन करने वाली कांग्रेस अब बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिए महागठबंधन बनाने की कोशिश में है. कुछ समय पहले खबर आई थी कि असम में कांग्रेस ने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिए महागठबंधन का आह्वान किया है. पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि इस संबंध में चर्चा करने के लिए राज्य कांग्रेस की कोर कमेटी की बैठक में निर्णय किया गया है.

'एआईयूडीएफ और वाम दलों सहित अन्य दलों से बात करेंगे'
गोगोई ने कहा था, ‘हम राज्य में बीजेपी नीत सरकार की हार सुनिश्चित करने के लिए एआईयूडीएफ और वाम दलों सहित अन्य दलों से बात करेंगे.’ गोगोई ने कहा था कि राज्य के लोग परिवर्तन चाहते हैं और इसलिए कोर कमेटी ने अपनी बैठक में निर्णय किया कि महागठबंधन बनाने के लिए सभी दलों से चर्चा की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज