• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • Assam-Mizoram Border Dispute: असम पुलिस ने 'धमकी' देने वाले मिजोरम सांसद वनलालवेना को किया तलब, पूछताछ के लिए थाने बुलाया

Assam-Mizoram Border Dispute: असम पुलिस ने 'धमकी' देने वाले मिजोरम सांसद वनलालवेना को किया तलब, पूछताछ के लिए थाने बुलाया

दोनों राज्यों के पुलिस बलों के बीच हुई हिंसक झड़प में असम पुलिस के 6 जवान और एक आम नागरिक की मौत हो गई थी. (फाइल फोटो)

Assam-Mizoram Border Dispute: असम पुलिस ने वनलालवेना के इंटरव्यू की ओरिजिनल रिकॉर्डिंग की भी मांग की है. साथ ही वे हिंसा के बाद उनके बयानों की जांच करने की तैयारी कर रहे हैं. इस दौरान सांसद को अपराधियों की तस्वीरें भी दिखाई जाएंगी.

  • Share this:

    नई दिल्ली. असम पुलिस (Assam Police) ने मिजोरम (Mizoram) से राज्यसभा सांसद के वनलालवेना (K Vanlalvena) के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी है. पुलिस ने उन्हें 1 अगस्त यानि रविवार को पूछताछ के लिए बुलाया है. वनलालवेना ने असम-मिजोरम सीमा पर बीते सोमवार को हुई हिंसा के बाद ‘धमकी’ भरा बयान दिया था, जिसके चलते असम पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई कर रही है. पुलिस के अलावा असम क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट (CID) की टीम भी दिल्ली पहुंची है. CID ने जानकारी दी है कि फिलहाल मामले की जांच जारी है.

    समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, एक अधिकरी ने बताया, ‘असम के कछार स्थित धोलाई पुलिस स्टेशन के जांच अधिकारी ने राज्यसभा सांसद के वनलालवेना के तलब किया है. उन्हें 1 अगस्त को सुबह 11:00 बजे पुलिस स्टेशन आने के लिए कहा गया है. उन्हें असम-मिजोरम सीमा पर हुई झड़प के चलते समन भेजा गया है.’ एजेंसी से बाचतीच में CID एसपी युवराज ने बताया, ‘हम अभी भी जांच प्रक्रिया में हैं. एक बार हम प्रक्रिया पूरी करने के बाद आपको जानकारी देंगे.’

    सांसद ने क्या कहा था
    संसद भवन के बाहर पत्रकारों से बातचीत के दौरान वनलालवेना ने कहा था, ‘200 से ज्यादा पुलिसवाले क्षेत्र में घुसे और उन्होंने हमारे पुलिसकर्मियों को हमारी ही चौकियों से हटा दिया और हमारी तरफ से गोली चलाने से पहले उन्होंने ही पहले गोली चलाने के आदेश दिए थे. वे भाग्यशाली थे कि हमने उन्हें मारा नहीं. अगर वे दोबारा आएंगे, तो हम उन्हें खत्म कर देंगे.’

    खबर है कि असम पुलिस ने वनलालवेना के इंटरव्यू की ओरिजिनल रिकॉर्डिंग की भी मांग की है. साथ ही वे हिंसा के बाद उनके बयानों की जांच करने की तैयारी कर रहे हैं. इस दौरान सांसद को अपराधियों की तस्वीरें भी दिखाई जाएंगी. एक बयान में सरकार ने हमला करने वालों की जानकारी देने पर पांच लाख रुपये के इनाम का ऐलान किया है.

    कौन हैं वनलालवेना
    वनलालवेना एनडीएक के समर्थन वाले मिजो नेशनल फ्रंट से आते हैं. वे छात्रसंघ मिजो जिरलाई पॉल के पर्व अध्यक्ष हैं. उन्होंने 2002 में राजनीति में MNF के युवा मोर्चा के महासचिव के तौर पर राजनीति में कदम रखा था और बाद में मिजो नेशनल फ्रंट के युवा मोर्चा के अध्यक्ष बने. वे मिजोरम नेशनल फ्रंट की नेशनल कोर कमेटी के सदस्य हैं.

    यह भी पढ़ें: असम पुलिस को ‘जान से मारने’ की धमकी देकर फंसे मिजोरम सांसद, CID करेगी पूछताछ

    असम सीएम के खिलाफ मामला दर्ज
    इधर, मिजोरम की तरफ से भी हिंसा को लेकर बड़ी कार्रवाई की गई है. पुलिस ने असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिस्वा सरमा समेत राज्य के कई अधिकारियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. मिजोरम के पुलिस महानिरीक्षक (मुख्यालय) जॉन एन ने पीटीआई-भाषा को बताया कि इन लोगों के खिलाफ हत्या का प्रयास और आपराधिक साजिश समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज किया गया है. भाषा के अनुसार, सीएम के अलावा, राज्य पुलिस के चार वरिष्ठ अधिकारियों और दो अन्य अधिकारियों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज किए हैं.

    दोनों राज्यों के पुलिस बलों के बीच हुई हिंसक झड़प में असम पुलिस के 6 जवान और एक आम नागरिक की मौत हो गई थी. कछार जिले स्थित लाइन रिजर्व फॉरेस्ट एरिया में बढ़ी झड़प में 45 लोग घायल हो गए थे. इसके बाद दोनों राज्यों ने एक-दूसरे पर हिंसा भड़काने के आरोप लगाए थे. क्षेत्र में शांति स्थापित करने के अर्धसैनिक बलों की तैनाती की गई थी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज