Assam NRC Final List : AIDUF विधायक अनंत कुमार का ही नाम गायब

News18Hindi
Updated: August 31, 2019, 4:54 PM IST
Assam NRC Final List : AIDUF विधायक अनंत कुमार का ही नाम गायब
19 लाख से अधिक लोगों को महत्वपूर्ण नागरिकों की सूची से बाहर किए जाने के बाद उनकी नागरिकता साबित करनी होगी

19 लाख से अधिक लोगों को महत्वपूर्ण नागरिकों की सूची से बाहर किए जाने के बाद उनकी नागरिकता साबित करनी होगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 31, 2019, 4:54 PM IST
  • Share this:
असम (Assam)के दूसरे सबसे शक्तिशाली विपक्षी दल के एक विधायक उन 19 लाख लोगों में शामिल हैं, जिनके नाम राष्ट्रीय रजिस्टर ऑफ सिटीजन या एनआरसी (NRC) से छूट गया है. NRC को सुबह शनिवार सुबह सरकार ने प्रकाशित किया. ऑल इंडिया यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (AIUDF) के अनंत कुमार मालो ने वेबसाइट पर अपना नाम गायब पाया.

19 लाख से अधिक लोगों को महत्वपूर्ण नागरिकों की सूची से बाहर किए जाने के बाद उनकी नागरिकता साबित करनी होगी, जिसका उद्देश्य कानूनी निवासियों की पहचान करना है और असम से अवैध अप्रवासियों को बाहर निकालना है. सूची में 3.11 करोड़ लोग शामिल किए गए हैं.

केंद्र ने कहा है कि एनआरसी में जिन लोगों के नाम सामने नहीं आए हैं, उन्हें तब तक विदेशी घोषित नहीं किया जा सकता, जब तक कि सभी कानूनी विकल्प समाप्त नहीं हो जाते. NRC में शामिल नहीं हुआ प्रत्येक शख्स विदेशी ट्रिब्यूनल में अपील कर सकता है और अपील दायर करने की समय सीमा 60 से 120 दिनों तक बढ़ा दी गई है.

यह भी पढ़ें:  असम के मंत्री ने NRC की फाइनल लिस्ट पर उठाए सवाल

गृह मंत्रालय ने कहा कि - 

गृह मंत्रालय ने कहा कि विवादों की सुनवाई के लिए चरणों में कम से कम 1,000 न्यायाधिकरण स्थापित किए जाएंगे. 100 ट्रिब्यूनल पहले से ही खुले हैं और 200 अधिक सितंबर के पहले सप्ताह में स्थापित किए जाएंगे. यदि कोई न्यायाधिकरण में मामला हार जाता है, तो कोई हाईकोर्ट और फिर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकता है. असम सरकार ने उन लोगों को हिरासत में लेने से इनकार कर दिया है जो 'किसी भी परिस्थिति में' तब तक सूची में नहीं आते हैं जब तक कि विदेशी ट्रिब्यूनल उन्हें विदेशी घोषित नहीं करते.

मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल दोपहर 3 बजे नागरिकों की सूची पर समीक्षा बैठक करेंगे. एनआरसी का असम के लोगों के लिए अत्यधिक महत्व है क्योंकि राज्य ने 1979 से 1985 के बीच छह साल के लंबे आंदोलन का साक्षी बना बांग्लादेश से अवैध प्रवासियों का पता लगाने और निर्वासन की मांग की.
Loading...

यह भी पढ़ें: असम NRC से 'आसू' खफा, सुप्रीम कोर्ट में लिस्ट पर रखेगा अपनी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 31, 2019, 3:42 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...