असमः UPPL विधायक लेहोराम बोरो का कोरोना से निधन, पार्टी कार्यकर्ताओं ने दी श्रद्धांजलि

विधायक के निधन से पार्टी कार्यकर्ता शोक में डूब गए हैं.

विधायक के निधन से पार्टी कार्यकर्ता शोक में डूब गए हैं.

गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि विधायक लेहोराम बोरो डायबिटीज के मरीज थे. कोरोना से संक्रमित होने के बाद उनका ऑक्सीजन लेबल लगातार कम हो रहा था और उन्होंने 27 मई को आखिरी सांस ली.

  • Share this:

गुवाहाटी. असम के तामूलपुर से यूनाइटेड पीपुल्स पार्टी लिबरल (यूपीपीएल) के विधायक लेहोराम बोरो का शनिवार को निधन हो गया. लेहोराम बोरो कोरोना से संक्रमित थे और उनका इलाज गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज में चल रहा था.

गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि विधायक लेहोराम बोरो डायबिटीज के मरीज थे. कोरोना से संक्रमित होने के बाद उनका ऑक्सीजन लेबल लगातार कम हो रहा था और उन्होंने 27 मई को आखिरी सांस ली.

यूपीपीएल के अध्यक्ष प्रमोद बोरो ने विधायक की मौत पर दुख व्यक्त करते हुए एक पोस्ट लिखा. अपने पोस्ट में प्रमोद बोरो ने कहा, "हमने आज तामूलपुर एलएसी के विधायक लेहोराम बोरो को खो दिया है. उनका आकस्मिक निधन तामूलपुर क्षेत्र और पूरे यूपीपीएल परिवार के लिए एक बड़ी क्षति है. उन्होंने अपना अधिकांश जीवन क्षेत्र के विकास और उत्थान के लिए समर्पित कर दिया. उन्हें कुछ दिन पहले कोविड टेस्ट पॉजिटिव आने के बाद जीएमसीएच में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. जहां उनकी मौत हो गई."

चार बार विधायक रहे मजेंद्र नारजारे भी हारे जंग
इससे पहले असम के गोसाईगांव (Gosaigaon, Assam) से चार बार विधायक रहे मजेंद्र नारजारे (Majendra Narzary) का कोरोना से बुधवार को गुवाहाटी के एक अस्पताल में निधन हो गया है. अस्पताल के डॉक्टरों ने यह जानकारी दी.


बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट (BPF) के नेता नारजारे के परिवार में पत्नी और चार बच्चे हैं. BPF नेता 68 साल के थे. नारजारे असम के कोकराझार जिले में गोसाईगांव विधानसभा क्षेत्र का 2006 से प्रतिनिधित्व कर रहे थे और उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी यूपीपीएल के सोमनाथ नारजारे को दस हजार से ज्यादा मतों से हराया था.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज