लाइव टीवी

असम: पुलिस ने गर्भवती समेत 3 महिलाओं को कपड़े उतारकर पीटा, जान से मारने की दी धमकी

News18Hindi
Updated: September 17, 2019, 9:47 PM IST
असम: पुलिस ने गर्भवती समेत 3 महिलाओं को कपड़े उतारकर पीटा, जान से मारने की दी धमकी
गर्भवती महिला ने मीडिया को बताया कि उसके पेट में 2 महीने 22 दिन का भ्रूण था लेकिन पुलिस की मारपीट के कारण उसका मिसकैरेज हो गया.

पूछताछ में पुलिस ने लड़कियों को इतनी क्रूरता से पीटा कि उनके शरीर पर गहरे नीले रंग के निशान पड़ गए. गर्भवती महिला ने मीडिया को बताया कि उसके पेट में 2 महीने 22 दिन का भ्रूण था लेकिन पुलिस की मारपीट के कारण उसका मिसकैरेज हो गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 17, 2019, 9:47 PM IST
  • Share this:
गुवाहाटी. असम (Assam) के डारंग (Darrang) जिले में एक प्रेग्नेंट महिला और उसकी दो बहनों के उत्पीड़न की खबर सामने आई है. असम के डारंग जिले में बुरहा पुलिस आउटपोस्ट में एक प्रेग्नेंट महिला और उसकी दो बहनों को कपड़े उतारकर पीटा गया और उन्हें टॉर्चर किया गया. पुलिस इन युवतियों के भाई की तलाश कर रही है जो कि एक लड़की के साथ फरार हो गया है. इसी पूछताछ में पुलिस ने लड़कियों को इतनी क्रूरता से पीटा कि उनके शरीर पर गहरे नीले रंग के निशान पड़ गए. गर्भवती महिला ने मीडिया को बताया कि उसके पेट में 2 महीने 22 दिन का भ्रूण था लेकिन पुलिस की मारपीट के कारण उसका गर्भपात हो गया.

ये घटना 9 सितंबर की है जो कि अब सामने आई है जिसमें पुलिस के इस बर्बरतापूर्ण व्यवहार के बारे में मालूम पड़ा है. 9 सितंबर को डारंग में पुलिस की एक टीम ने 3 महिलाओं को गुवाहाटी के सिक्समाइल इलाके में रहने वाली एक महिला को एक युवक के साथ भागने मे मदद करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.

बिना कपड़ों के महिलाओं के साथ की गई मारपीट
घटना के मुख्य आरोपी के बारे में कोई सुराग न मिलने के बाद पुलिस ने इन तीनों महिलाओं को पूछताछ के लिए गिरफ्तार कर लिया. महिला के मुताबिक पुलिस ने पूछताछ के दौरान उनके कपड़े उतार दिए और पूरी रात उनको पीटा गया.

प्रेग्नेंट महिला को जानबूझकर बुरी तरह पीटा
महिला ने बताया कि क्योंकि वह प्रेग्नेंट थी इसलिए पुलिस स्टेशन के ऑफिस इंचार्ज महिंद्र सरमा ने उसके प्राइवेट पार्ट्स में मारा इसके बाद अन्य अधिकारियों ने भी उसकी बात नहीं सुनी और वह उसे निर्दयता से पीटते रहे. महिला के परिवार वालों ने इस केस की जांच की मांग की है.

महिलाओं को मिली जान से मारने की धमकी
Loading...

रिपोर्ट्स की मानें तो तीनों महिलाओं ने डारंग पुलिस स्टेशन में केस दर्ज कराने की कोशिश की. लेकिन वहां यह केस दर्ज नहीं किया गया. महिलाओं ने बताया कि ऑफिस इंचार्ज ने उन्हें केस दर्ज कराने की कोशिश करने पर जान से मारने की धमकी भी दी.

ये भी पढ़ें-
सामने आई सच्चाईः सवर्ण युवती से प्यार करता था दलित युवक, इसलिए जिंदा जला दिया

कांग्रेस ने PM से किया सवाल, कहा- युवक को जिंदा जलाने पर चुप क्‍यों हैं आप?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 17, 2019, 8:34 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...