Assembly Banner 2021

Assembly Election 2021 Updates: TMC के आरोपों के बीच राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने केंद्रीय पुलिस बल को दी बधाई

ममता ने रोडशो के लिए पहुंचने से पहले ट्वीट किया, हम बिना डरे लड़ाई जारी रखेंगे. (फोटो साभारः PTI)

ममता ने रोडशो के लिए पहुंचने से पहले ट्वीट किया, हम बिना डरे लड़ाई जारी रखेंगे. (फोटो साभारः PTI)

West Bengal Assembly Elections; बनर्जी ने बृहस्पतिवार को नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के बोयल में एक मतदान केंद्र से राज्यपाल और चुनाव आयोग के एक विशेष पर्यवेक्षक को फोन कर मतदान में गड़बड़ी होने की बात कही थी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 2, 2021, 10:53 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. केंद्रीय पुलिस बलों पर केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit shah) के आदेश पर काम करने के तृणमूल कांग्रेस के आरोपों के बीच पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ (Governor Jagdeep Dhankhar) ने शुक्रवार को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण में उत्कृष्ट कामकाज के लिए केंद्रीय पुलिस बलों और राज्य पुलिस की तारीफ की.

दूसरे चरण में बृहस्पतिवार को नंदीग्राम समेत 30 सीटों पर मतदान हुआ था. नंदीग्राम में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के मुकाबले उनके कभी सहयोगी रहे शुभेंदु अधिकारी भाजपा से उम्मीदवार हैं. बनर्जी ने भाजपा पर नंदीग्राम सीट पर मतदान में धांधली का आरोप लगाते हुए दावा किया था कि केंद्रीय बल और चुनाव आयोग अमित शाह के निर्देशों पर काम कर रहे हैं.

आम जनता से की मतदान की अपील
राज्यपाल ने ट्वीट किया, 'पश्चिम बंगाल में दूसरे चरण में 30 सीटों पर 84 प्रतिशत से अधिक मतदान और नंदीग्राम में 88 प्रतिशत से अधिक मतदान प्रशंसनीय है. सीएपीएफ और पश्चिम बंगाल पुलिस का उत्कृष्ट कार्य. आने वाले चरणों में यह रुझान रहना चाहिए. सभी से मतदान करने की अपील है जिससे लोकतंत्र मजबूत होता है. हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है.'
ममता बनर्जी ने कही थी मतदान में गड़बड़ी की बात


बनर्जी ने बृहस्पतिवार को नंदीग्राम विधानसभा क्षेत्र के बोयल में एक मतदान केंद्र से राज्यपाल और चुनाव आयोग के एक विशेष पर्यवेक्षक को फोन कर मतदान में गड़बड़ी होने की बात कही थी. तृणमूल कांग्रेस के सूत्रों के अनुसार, बनर्जी ने आरोप लगाया था कि उनकी पार्टी के समर्थकों को भाजपा के लोग वोट नहीं डालने दे रहे. चुनाव आयोग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि बनर्जी मतदान केंद्र पर गयी थीं और उन्हें करीब दो घंटे तक इंतजार करना पड़ा था क्योंकि दो समूह एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे.

अधिकारी के अनुसार, इस घटना के बाद सीएपीएफ जवान और वरिष्ठ अधिकारी हालात को काबू में लाने तथा मुख्यमंत्री को वहां से निकालने के लिए मौके पर पहुंचे. राज्यपाल के ट्वीट के बाद तृणमूल कांग्रेस के सौगत राय ने कहा, ‘‘हम सभी जानते हैं कि पश्चिम बंगाल के राज्यपाल के रूप में पदभार संभालने के बाद से उन्होंने क्या भूमिका निभाई है. उनसे यही अपेक्षा है कि वह भाजपा और केंद्रीय बलों को क्लीन चिट देंगे.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज