Assembly Banner 2021

TMC की चुनाव आयोग से शिकायत, 'पूर्व मेदिनीपुर में अपराधियों को शरण दे रही BJP'

टीएमसी ने ईसी से कहा कि बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर में भाजपा अपराधियों को शरण दे रही है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

टीएमसी ने ईसी से कहा कि बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर में भाजपा अपराधियों को शरण दे रही है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

West Bengal Assembly Election 2021: चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात करने के बाद घोष दस्तीदार ने कहा, 'हमें सूचना है कि पातशपुर, एगरा, भगवानपुर, खेजुरी में गड़बड़ियां फैलाने के लिए अपराधी लाए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 26, 2021, 11:32 PM IST
  • Share this:
कोलकाता. तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने शुक्रवार को चुनाव आयोग (Election Commission) में शिकायत कर भाजपा पर आरोप लगाया कि वह पश्चिम बंगाल के पूर्वी मेदिनीपुर जिले में अपराधियों को शरण दे रही है ताकि चुनाव के दिन हिंसा कराई जा सके. टीएमसी के राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ ब्रायन और लोकसभा की सांसद काकोली घोष दस्तीदार ने संवाददाताओं से कहा कि 'चुनावों से पहले कोलकाता और पड़ोसी जिलों से पूर्वी मेदिनीपुर में अपराधियों को लाने की कई खबरें' सामने आई हैं.

चुनाव आयोग के अधिकारियों से मुलाकात करने के बाद घोष दस्तीदार ने कहा, 'हमें सूचना है कि पातशपुर, एगरा, भगवानपुर, खेजुरी में गड़बड़ियां फैलाने के लिए अपराधी लाए गए हैं. स्थानीय घरों में कई बाहरी लोग ठहरे हुए हैं. यह चुनाव दिशानिर्देशों का उल्लंघन है.' उन्होंने मांग की कि शनिवार को जिन विधानसभा क्षेत्रों में चुनाव होने वाला है वहां अतिरिक्त केंद्रीय बलों की तैनाती की जाए.

पार्टी ने कहा कि इन क्षेत्रों में केंद्रीय सशस्त्र बलों की मौजूदगरी 'काफी कम' है. घोष दस्तीदार ने यह भी कहा कि खेजुरी में टीएमसी उम्मीदवार पर गुरुवार को राजनीतिक विरोधियों द्वारा हमला किया गया.



बंगाल की 30 सीटों पर मतदान आज
बता दें कि पश्चिम बंगाल में पहले चरण के तहत आज 30 विधानसभा सीटों पर मतदान होगा. जिनमें से अधिकतर सीटें एक समय नक्सल प्रभावित रहे जंगलमहल इलाके में आती हैं. ऐसे में सबकी निगाहें इस क्षेत्र में होने वाले मतदान पर टिकी हैं. भाजपा जंगलमहल क्षेत्र से अच्छी उम्मीद लगाए बैठी है. साल 2019 में हुए आम चुनाव में इस क्षेत्र की अधिकतर सीटों पर भाजपा को जीत हासिल हुई थी.

ये भी पढ़ें: बंगाल: मतदान से एक दिन पहले TMC दफ्तर में बम ब्‍लास्‍ट, कई कार्यकर्ता घायल, क्षेत्र में तनाव

ये भी पढ़ें: असम-पश्चिम बंगाल में कल पहले चरण की वोटिंग, कई दिग्गजों की किस्मत दांव पर

अधिकारियों ने कहा कि इस क्षेत्र में मतदान के लिये सुरक्षा के कड़े प्रबंध किये गए हैं. चुनाव आयोग यहां केन्द्रीय बलों की लगभग 684 कंपनियों को तैनात कर रहा है, जिनके पास 10,288 मतदान केन्द्रों की सुरक्षा की जिम्मेदारी होगी. उन्होंने कहा कि इसके अलावा महत्वपूर्ण स्थानों पर राज्य की पुलिस को भी तैनात किया जाएगा.

पहले चरण में पुरुलिया की नौ, बांकुड़ा की चार, झाड़ग्राम की चार, पश्चिमी मेदिनीपुर की छह सीटों के अलावा पूर्वी मेदिनीपुर की अति महत्वपूर्ण सात सीटों पर मतदान होगा, जो भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी का गढ़ माना जाता है. मतदान के दौरान कोविड-19 नियमों का सख्ती से पालन करने की हिदायत दी गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज