Assembly Banner 2021

ममता बनर्जी पर हमला नहीं, दुर्घटनावश लगी थी चोट; चुनाव पर्यवेक्षकों ने सौंपी रिपोर्ट

ममता बनर्जी पर हुए कथित हमले को लेकर बंगाल सरकार की ओर से चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी गई है.

ममता बनर्जी पर हुए कथित हमले को लेकर बंगाल सरकार की ओर से चुनाव आयोग को रिपोर्ट भेज दी गई है.

West Bengal Assembly Elections: पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नंदीग्राम की जिस घटना में चोट लगी थी, वह एक दुर्घटना थी और यह कोई सुनियोजित हमला नहीं था. दो चुनाव पर्यवेक्षकों ने शनिवार को चुनाव आयोग को इस बारे में एक रिपोर्ट सौंपी, जिसमें यह कहा गया है. इस रिपोर्ट पर आयोग रविवार को फैसला लेगा.

  • Share this:
नई दिल्ली. पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को शुक्रवार की शाम सरकारी एसएसकेएम अस्पताल से छुट्टी दे दी गई. चिकित्सकों ने उनकी हालत ‘संतोषजनक’ पाई, जिसके बाद उन्हें छुट्टी दी गई. टीएमसी सुप्रीमो अस्पताल से छुट्टी देने की बार-बार अपील की, जिसके बाद चिकित्सकों ने यह निर्णय किया. वहीं बनर्जी के चोटिल होने पर पश्चिम बंगाल सरकार द्वारा चुनाव आयोग को भेजी गयी रिपोर्ट में ‘चार-पांच लोगों’ के हमले का जिक्र नहीं किया गया है. राज्य निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने इस बारे में बताया.

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को नंदीग्राम की जिस घटना में चोट लगी थी, वह एक दुर्घटना थी और यह कोई सुनियोजित हमला नहीं था. दो चुनाव पर्यवेक्षकों ने शनिवार को चुनाव आयोग को इस बारे में एक रिपोर्ट सौंपी, जिसमें यह कहा गया है. मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) कार्यालय के एक सूत्र ने बताया कि विशेष पर्यवेक्षक अजय नायक और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दूबे ने यह रिपोर्ट तैयार की है. इसमें बताया गया है कि 10 मार्च को बनर्जी द्वारा नामांकन दाखिल करने के बाद पूर्वी मिदनापुर जिले में नंदीग्राम के बिरुलिया बाजार में यह घटना ‘‘अचानक’’ हुई थी, हालांकि इसकी साजिश होने की बात कही जा रही थी.

ये भी पढ़ें- नंदीग्राम में राकेश टिकैत की BJP को हराने की अपील- किसी को भी वोट दें लेकिन...



रिपोर्ट में यह भी कहा गया कि घटना के अचानक होने के कारण बनर्जी घायल हो गईं. सूत्र ने रिपोर्ट के हवाले से कहा, ‘‘यह घटना कोई सुनियोजित हमला नहीं था, बल्कि यह एक दुर्घटना थी. यह अचानक हुई थी.’’ टीएमसी सुप्रीमो बनर्जी को लगी चोट के बारे में यह भी कहा गया है कि ‘‘अचानक हुई घटना के कारण उन्हें यह चोट लगी. घटना के पीछे कोई साजिश नहीं थी.’’ रिपोर्ट में घटना के दौरान उपस्थित चश्मदीद गवाहों द्वारा उपलब्ध कराए गए विवरण के साथ-साथ उनसे प्राप्त वीडियो से भी जानकारी जुटाई गई.
चुनाव आयोग रविवार को लेगा फैसला
चुनाव आयोग तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के चुनाव प्रचार के दौरान घायल होने की घटना पर पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव और दो विशेष चुनाव पर्यवेक्षकों द्वारा सौंपी गई विभिन्न रिपोर्ट पर रविवार को फैसला लेगा. सूत्रों ने यह जानकारी दी. बनर्जी बुधवार की शाम नंदीग्राम विधानसभा सीट से अपना नामांकन पत्र दाखिल करने के बाद क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान अज्ञात लोगों द्वारा कथित तौर पर धक्का दिये जाने के बाद घायल हो गई थीं.

ये भी पढ़ें- J&K पुलिस ने जारी की 9 वॉन्टेड अपराधियों की सूची, बड़े स्तर पर की जाएगी धरपकड़ 

इस घटना के बाद, चुनाव आयोग ने मुख्य सचिव अलपन बंद्योपाध्याय, विशेष पर्यवेक्षक अजय नायक और विशेष पुलिस पर्यवेक्षक विवेक दुबे से शुक्रवार शाम तक रिपोर्ट मांगी थी.

सूत्रों ने बताया कि आयोग ने शुक्रवार को पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव से और जानकारी मांगी थी क्योंकि रिपोर्ट ‘‘व्यापक रूप से पर्याप्त’’ नहीं थी. दोनों पर्यवेक्षकों ने शनिवार की शाम तक अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए समय मांगा था. चुनाव आयोग को आज देर शाम रिपोर्ट मिली है. एक अधिकारी ने कहा, ‘‘आयोग कल (रविवार) निर्णय लेगा.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज