Choose Municipal Ward
    CLICK HERE FOR DETAILED RESULTS

    नीतीश कुमार को 'मालिक' कहते हैं जदयू के ये विधायक, पर जवाब में CM उन्हें कहते हैं 'सर'! जानें कौन हैं?

    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)
    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (फाइल फोटो)

    नीतीश कुमार 'सर' क्यों बोलते हैं इस बारे में जब विधायक से पूछा गया तो वह बहुत ही मासूमियत से भोजपुरी में कहते हैं कि- नीतीश जी हमार मालिक हवें, उनकर प्यार सबसे ज़्यादा हमरा मिलेला.

    • Share this:
    पटना. बिहार की सियासत के चाणक्य माने जाने वाले नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के 'सर'  कौन है? ये रहस्य बहुत कम लोग जानते हैं. लेकिन आपको जान कर और भी आश्चर्य होगा कि वो जेडीयू (JDU) का ही एक नेता और विधायक भी हैं. नीतीश कुमार अपनी पार्टी के इस विधायक से जब भी मिलते हैं तो उन्हें 'सर' कह कर ही सम्बोधित करते हैं. नीतीश कुमार के सर भी बिहार के सियासत में अपने अजीबोगरीब रंग ढंग के लिए जाने जाते हैं.  हम आपको बताते हैं कि नीतीश कुमार के वो  'सर'  कौन हैं.

    श्याम बहादुर सिंह(Shyam Bahadur Singh), बड़हरिया से JDU विधायक ही नीतीश कुमार के  'सर'  हैं. इनकी सीएम नीतीश से जब भी मुलाक़ात होती है तो वह  'सर'  श्याम बहादुर जी कह कर सम्बोधित करते हैं. दरअसल श्याम बहादुर सिंह को नीतीश कुमार  'सर' क्यों बोलते हैं इस बारे में जब श्याम बहादुर सिंह से पूछा गया तो वह बहुत ही मासूमियत से भोजपुरी में कहते हैं कि- नीतीश जी हमार मालिक हवें, उनकर प्यार सबसे ज़्यादा हमरा मिलेला. हम एक साधारण कार्यकर्ता बानीं, लेकिन नीतीश जी के आशीर्वाद से हम तीन बार विधायक बनल बानीं. हम हर बार चुनाव में नीतीश जी के आशीर्वाद लेकर ही चुनाव में जानी. हम नीतीश जी के सबसे बड़ भक्त बानीं. उन कर प्यार और कृपा बा जे हमरा जइसन साधारण कार्यकर्ता के 'सर'  बोलेलन.







    श्याम बहादुर सिंह को नीतीश द्वारा  'सर'  बोलने के पीछे की कहानी भी दिलचस्प है. दरअसल श्याम बहादुर अपने अनोखे अन्दाज के लिए जाने जाते हैं. कभी सार्वजनिक जगह पर शादी ब्याह के मौक़े पर  नाचते हुए दिख जाते हैं तो कभी बंदर से लेकर हाथी तक के साथ जुगलबंदी करते दिख जाते हैं. कभी थाने का घेराव करते दिखते हैं तो कभी अपने विवादित बयान को लेकर चर्चा में रहते हैं. नीतीश कुमार तक जब ये ख़बर पहुंचती है तो वह समझाने की पूरी कोशिश करते हैं.  तब तो मान जाते हैं, लेकिन बाद में फिर से वही सब शुरू हो जाता है.
    मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ जदयू विधायक श्याम बहादुर सिंह.


    इतना होने के बाद भी श्याम बहादुर अपने विधान सभा क्षेत्र में बेहद लोकप्रिय हैं और इसी वजह से नीतीश कुमार के नज़दीकी माने जाते हैं.  जब नीतीश कुमार के समझाने के बावजूद श्याम बहादुर नहीं मानते तो वह मज़ाक़िया लहजे में चुनाव प्रचार के दौरान हो या कभी पार्टी के बैठक में  'सर' श्याम बहादुर जी कह कर सम्बोधित करते हैं. जिस पर श्याम बहादुर झेंपते हुए मालिक कह हाथ जोड़ लेते हैं.

    पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण सिंह कहते हैं कि कई बार हम लोगों ने समझाया है कि ऐसी हरकत क्यों करते हैं श्याम बहादुर जी तो कहते हैं हम कुछ नहीं करते है  'सर' , जनता मालिक है वो जो आदेश देती है,  हम वही करते हैं. अगर जनता नाचने का ही आग्रह करेगी तो हम मालिक का आदेश कैसे टाल सकते हैं.
    अगली ख़बर

    फोटो

    टॉप स्टोरीज