जम्मू-कश्मीर में इस साल के आखिर में होंगे विधानसभा चुनाव: EC

चुनाव आयोग ने एक बयान में कहा है कि जम्मू-कश्मीर में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होंगे.

News18Hindi
Updated: June 4, 2019, 9:36 PM IST
जम्मू-कश्मीर में इस साल के आखिर में होंगे विधानसभा चुनाव: EC
चुनाव आयोग ने एक बयान में कहा है कि जम्मू-कश्मीर में इस साल के आखिर में विधानसभा चुनाव होंगे.
News18Hindi
Updated: June 4, 2019, 9:36 PM IST
चुनाव आयोग ने जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव का कार्यक्रम इस साल अमरनाथ यात्रा के बाद तय करने का फैसला किया है. आयोग ने मंगलवार को एक बयान जारी कर यह जानकारी दी. गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर में हर साल जुलाई से मध्य अगस्त तक अमरनाथ यात्रा होती है. इस साल यात्रा का समय एक जुलाई से 15 अगस्त तक तय किया गया है.

बयान के अनुसार, 'चुनाव आयोग ने संविधान के अनुच्छेद 324 के तहत सर्वानुमति से फैसला किया है कि जम्मू कश्मीर में विधानसभा चुनाव इस साल के आखिर में कराया जायेगा.' आयोग ने कहा कि राज्य में सुरक्षा इंतजामों एवं अन्य हालात पर आयोग द्वारा नियमित नजर रखते हुए इस बारे में सभी पक्षों से हरसंभव जानकारी ली जा रही है. आयोग ने कहा कि राज्य में अमरनाथ यात्रा के बाद चुनाव कार्यक्रम घोषित किया जायेगा.

दिसंबर 2018 में राज्य में लगा था राष्ट्रपति शासन 

जम्मू कश्मीर में पीडीपी-भाजपा गठबंधन सरकार से जुलाई 2018 में भाजपा के समर्थन वापसी की घोषणा के बाद राज्यपाल शासन लागू कर दिया गया था. नई सरकार के गठन की संभावनायें समाप्त होने के बाद राज्यपाल की सिफारिश पर दिसंबर 2018 में जम्मू कश्मीर विधानसभा को भंग कर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाया गया था.

सामने आ रही हैं जम्मू-कश्मीर में परिसीमन के गठन की ख़बर

बता दें चुनाव से पहले जम्मू-कश्मीर में परिसीमन आयोग के गठन पर विचार की ख़बर सामने आ रही है. इसी को लेकर पीडीपी प्रमुख और जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने ऐसे विचार पर आपत्ति जताई थी. महबूबा ने इसे सांप्रदायिक आधार पर भड़काने का प्रयास बताया था.

जम्मू-कश्मीर में आखिरी बार 1995 में परिसीमन किया गया था. 1995 में राज्यपाल जगमोहन के आदेश पर जम्मू-कश्मीर में 87 सीटों का गठन किया गया था.
क्या है जम्मू कश्मीर की सीटों का गणित

जम्मू-कश्मीर विधानसभा में कुल 111 सीटें हैं, लेकिन 24 सीटों को खाली रखा गया है. जम्मू-कश्मीर के संविधान के सेक्शन 47 के मुताबिक इन 24 सीटों को पाक अधिकृत कश्मीर के लिए खाली छोड़ गया है और बाकी बची 87 सीटों पर ही चुनाव होता है. बता दें कि जम्मू-कश्मीर का अलग से भी संविधान है.

एक्शन में मोदी सरकार, जानिए कैसे शपथ लेने से पहले ही 100 दिन का एजेंडा तैयार था

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...