Home /News /nation /

asthma drug blocks corona virus from replicating finds new study from india

कोरोना को उसकी शक्ल-सूरत बदलने से रोका जा सकता है, भारत में हुए अध्ययन से खुलासा

कोरोना से मुकाबले के रास्ते में अब तक उसके लगातार सामने आते नए स्वरूप बड़ी बाधा रहे हैं. (सांकेतिक फोटो)

कोरोना से मुकाबले के रास्ते में अब तक उसके लगातार सामने आते नए स्वरूप बड़ी बाधा रहे हैं. (सांकेतिक फोटो)

Corona Virus New Study : वैज्ञानिक बताते हैं कि कोरोना का विषाणु जब किसी के शरीर के भीतर जाता है, तो वह एनएसपी1 (NSP1) नाम का प्रोटीन छोड़ता है. मानवकोशिकाओं के भीतर पहुंचकर यह प्रोटीन रोगप्रतिरोधक प्रणाली को बाधित करता है. रोगप्रतिरोधक प्रोटीन बनने से रोकता है. इससे संक्रमण बढ़ता जाता है. यही कोरोना के विषाणु को उसकी शक्ल-सूरत बदलने में भी मदद करता है.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. दुनियाभर में दो साल से महामारी (Pandemic) फैला रहे कोरोना विषाणु (Corona Virus) से मुकाबले के मामले में अब तक एक सबसे बड़ी दिक्कत रही है. वह ये कि यह विषाणु तेजी से अपनी शक्ल-सूरत बदलता है. बदले माहौल और परिस्थितियों के हिसाब से अपने आप को ढालकर नए-नए स्वरूप (Variants) में सामने आता है. जब तक एक स्वरूप से मुकाबले का रास्ता खोजा जाता है, वह कहीं दूसरी जगह अगले नए स्वरूपों में सामने आ जाता है. हालांकि अब एक नए अध्ययन से पता चला है कि कोरोना (Corona) को उसकी शक्ल-सूरत बदलने से रोका जा सकता है.

भारतीय विज्ञान संस्थान (IISc) बेंगलुरू में इस बाबत एक अध्ययन चल रहा था. इसके नतीजे ‘ई-लाइफ’ नाम विज्ञान-पत्र में प्रकाशित हुए हैं. अध्ययन के निष्कर्षों के अनुसार, अस्थमा के इलाज में काम आने वाली दवा मोंटेलुकास्ट (Montelukast) कोरोना के खिलाफ प्रभावी साबित हुई है. यह दवा खास तौर पर अब तक अस्थमा और इसी तरह की अन्य बीमारियों के दौरान होने वाली जलन आदि को रोकने के लिए इस्तेमाल की जा रही है. लेकिन अब वैज्ञानिकों की मानें तो यह यह मानव-कोशिकाओं के भीतर कोरोना (Corona) को उसकी शक्ल-सूरत बदलने से भी रोक सकती है.

वैज्ञानिक बताते हैं कि कोरोना का विषाणु जब किसी के शरीर के भीतर जाता है, तो वह एनएसपी1 (NSP1) नाम का प्रोटीन छोड़ता है. मानवकोशिकाओं के भीतर पहुंचकर यह प्रोटीन रोगप्रतिरोधक प्रणाली को बाधित करता है. रोगप्रतिरोधक प्रोटीन बनने से रोकता है. इससे संक्रमण बढ़ता जाता है. यही कोरोना के विषाणु को उसकी शक्ल-सूरत बदलने में भी मदद करता है. लेकिन मोंटेलुकास्ट (Montelukast) दवा इस एनएसपी1 (NSP1) प्रोटीन को ही बांध देती है. अध्ययन के मुताबिक, ये दवा अब आगे कोरोना संक्रमण (Corona Infection) का मुकाबला करने और उसका स्थायी इलाज ढूंढ़े जाने की दिशा में बेहद अहम साबित हो सकती है. 

वैज्ञानिक बताते हैं, क्यों अहम रहेगी यह दवा

Tags: Corona new variants, Corona Virus, Hindi news, New Study

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर