Home /News /nation /

पाक, चीन पर नजर, पलक झपकते ही दुश्मनों को खाक में मिलाने वाली मिसाइल 'अस्त्र' का परीक्षण करेगा भारत

पाक, चीन पर नजर, पलक झपकते ही दुश्मनों को खाक में मिलाने वाली मिसाइल 'अस्त्र' का परीक्षण करेगा भारत

भारत इस साल अस्‍त्र मार्क-2 मिसाइल का परीक्षण करेगा. (फोटो साभार-ANI)

भारत इस साल अस्‍त्र मार्क-2 मिसाइल का परीक्षण करेगा. (फोटो साभार-ANI)

Astra Mark 2 Missile Test: भारत इस साल अस्‍त्र मार्क-2 मिसाइल का परीक्षण करेगा. हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अस्‍त्र की रफ्तार ध्‍वनि की गति से भी चार गुना तेज है. इस मिसाइल की रेंज 160 किलोमीटर है.

    नई दिल्‍ली. पड़ोसी मुल्‍क पाकिस्‍तान और चीन को देखते हुए भारत की तीनों सेनाएं अपने आप को मजबूत कर रही हैं. जिससे समय आने पर दुश्‍मन को करारा जवाब दिया जा सके. इस बीच भारत एक ऐसी मिसाइल विकसित कर रहा है, जिससे भारतीय वायुसेना दुश्‍मन को हवा में 160 किलोमीटर की दूरी पर ही मार गिराएंगी और उसे संभलने का मौका भी नहीं मिलेगा. बेयॉन्ड विजुअल रेंज एयर-टू-एयर मिसाइल अस्त्र की गति इतनी तेज है कि संभलने से पहले ही दुश्‍मन खत्‍म हो जाएगा.

    भारत इस साल अस्‍त्र मार्क-2 मिसाइल का परीक्षण करेगा. हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल अस्‍त्र की रफ्तार ध्‍वनि की गति से भी चार गुना तेज है. इस मिसाइल की रेंज 160 किलोमीटर है. जबकि ये मिसाइल बिजिबल रेंज से बाहर भी दुश्‍मन को आसानी से निशाना बन सकती है. न्‍यूज एजेंसी एएनआई को वायुसेना के अधिकारियों ने बताया कि अस्‍त्र मिसाइल का परीक्षण इस समय के मध्‍य तक शुरू हो सकता है. परीक्षण सफल होने के बाद यह मिसाइल पूरी तरह से वर्ष 2022 के अंत तक भारतीय वायुसेना में ऑपरेशनल हो सकती है.

    ये भी पढ़ें: ‘गगनयान’ सिर्फ आगाज है, अंतरिक्ष में इंसानों की मौजूदगी को लेकर भारत बना रहा ब्लूप्रिंट

    ये भी पढ़ें: India-China Standoff: सिक्किम में भी नरम पड़े चीन के तेवर, नाकु ला में कम की पेट्रोलिंग

    ना दिखने वाले लक्ष्‍य को भी तबाह करेगी मिसाइल
    इस नेक्स्ट जेनरेशन मिसाइल प्रोग्राम से पिछले साल से जुड़े पूर्व सेंट्रल एयर कमांडर एयर मार्शल एसबीपी सिन्‍हा (रिटायर) ने कहा कि हवा से हवा में मार करने वाली यह एक बेयॉन्ड विजुअल रेंज मिसाइल है. अगर लक्ष्‍य आंखों से नहीं दिख रहा हो तो भी यह मिसाइल उस लक्ष्‍य को आसानी से भेद सकती है. हमला करके उसे तबाह कर सकती है.

    यह मिसाइल 4.5 मैक यानी 5556.2 किलोमीटर की गति से हमला करता है. अगर सेकेंड में इसकी स्‍पीड निकाली जाए तो यह एक सेकेंड में 1.54 किलोमीटर की दूरी तय करेगा. भारतीय वायुसेना चाहती है कि इस मिसाइल को स्‍वदेशी लड़ाकू विमान तेजस से भी दागा जा सके. इस पर काम जारी है और तेजस विमान से इसकी तारक क्षमता को 100 किलोमीटर तक करने के प्रयास किए जा रहे हैं. यह मिसाइल रूसी, फ्रांसीसी और इजरायल की BVRAAM की जगह लेगी. भारतीय वायुसेना और नौसेना ने 288 अस्‍त्र मार्क-1 मिसाइल का पहले ही ऑर्डर दे चुकी है. जिसे सुखोई एमकेआई से दागा जा सके.

    Tags: Indian air force, Missile trial

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर