Assembly Banner 2021

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को एस्ट्राजेनेका ने COVID-19 वैक्सीन की सप्लाई में देरी पर भेजा लीगल नोटिस

सीरम इंस्टीट्यूट  के CEO अदार पूनावाला

सीरम इंस्टीट्यूट के CEO अदार पूनावाला

सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदार पूनावाला ने कहा कि कंपनी प्रति दिन 20 लाख खुराक का उत्पादन कर रही है.

  • Share this:
पुणे. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) के सीईओ अदार पूनावाला (Adar Poonawalla) ने कहा कि ब्रिटेन की दवा कंपनी एस्ट्राजेनेका ने COVID-19 वैक्सीन की आपूर्ति में देरी को लेकर विनिर्माण भागीदार पुणे की SII को कानूनी नोटिस भेजा है.

बिजनेस स्टैंडर्ड के अनुसार पूनवाला ने बताया, 'मैं कानूनी नोटिस पर टिप्पणी नहीं कर सकता. यह गोपनीय है, लेकिन हम अनुबंध संबंधी दायित्वों पर कानूनी विवादों का प्रबंधन और समाधान करने के लिए सभी रास्ते की जांच कर रहे हैं.' रिपोर्टों में कहा गया है कि यह नोटिस सीरम संस्थान द्वारा यूके को टीकों के शिपमेंट में देरी के बाद आया है. साथ ही भारत सरकार भी कानूनी नोटिस से अवगत है.

घरेलू जरूरतों को अस्थायी रूप से प्राथमिकता देगा SII- अदार
इस बीच सीरम इंस्टीट्यूट ने कोविड वैक्सीन निर्यात को रोकने के केंद्र के फैसले के चलते देरी हो रही है वहीं अदार पूनावाला ने कहा कि SII अगले एक या दो महीनों तक घरेलू जरूरतों को अस्थायी रूप से प्राथमिकता देगा.
पूनावाला ने कहा, 'हम उम्मीद कर रहे हैं कि यह एक अस्थायी उपाय है. जब भारत में स्थिति शांत हो जाएगी तो वैक्सीन का निर्यात गति पकड़ सकता है. दो महीनों में, हम भारत की स्थिति के आधार पर सभी चीजों की समीक्षा कर सकते हैं, ताकि हम भारत और विश्व के लिए अच्छा कर सकें.'



टीके का उत्पादन बढ़ाने के लिए 3,000 करोड़ रुपये की जरूरत
इससे पूनावाला ने मंगलवार को कहा था कि कोविड-19 वैक्सीन की उत्पादन क्षमता बढ़ाने के लिए करीब 3,000 करोड़ रुपये की जरूरत होगी. पूनावाला ने कहा, ‘हमें मोटे तौर पर 3,000 करोड़ रुपये की जरूरत है, जो एक छोटा आंकड़ा नहीं है, क्योंकि हमने पहले ही हजारों करोड़ रुपये खर्च कर दिए हैं. हमें अपनी क्षमता निर्माण के लिए अन्य नए तरीके तलाशने होंगे.’

उन्होंने कहा कि कंपनी को उम्मीद है कि कोविशील्ड वैक्सीन की उत्पादन क्षमता जून से प्रति माह 11 करोड़ तक बढ़ जाएगी. पूनावाला ने कहा कि कंपनी प्रति दिन 20 लाख खुराक का उत्पादन कर रही है.

उन्होंने कहा, ‘हमने अकेले भारत में 10 करोड़ से अधिक खुराक दी हैं और अन्य देशों को लगभग छह करोड़ खुराक का निर्यात किया है.’ सीरम इंस्टीट्यूट के साथ ही अन्य वैक्सीन उत्पादकों ने भी मुनाफा न लेने के लिए सरकार से सहमति जताई है.

उन्होंने कहा कि दुनिया में कोई भी दूसरी वैक्सीन कंपनी इतनी कम कीमतों पर टीके उपलब्ध नहीं करा रही है. पूनावाला ने एक अन्य साक्षात्कार में कहा कि सीरम इंस्टीट्यूट अन्य के मुकाबले भारत की अस्थायी जरूरतों को प्राथमिकता दे रहा है. कंपनी वर्तमान में छह से सात करोड़ टीके प्रति माह उत्पादन कर रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज